सारण के पानापुर में बाढ़ में फंसे लोगों का NDRF ने किया रेस्क्यू, सुरक्षित आशियाना ढूंढ रहे हैं दर्जनों गांव के लोग

सारण के पानापुर में बाढ़ में फंसे लोगों का NDRF ने किया रेस्क्यू, सुरक्षित आशियाना ढूंढ रहे हैं दर्जनों गांव के लोग

Panapur: गुरुवार की मध्य रात्रि गोपालगंज जिले के बरौली प्रखंड के देवापुर एवं मांझा प्रखंड के पुरैना गांव में मुख्य सारण तटबंध टूटने की खबर से पानापुर में हड़कंप मच गया. लोग सुबह से ही सुरक्षित एवं ऊंचे जगहों पर अपना आशियाना बनाने में जुट गए है.

इस बीच गंडक नदी के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि से बाढ़ की विभीषिका झेल रहे सारण तटबंध के निचले इलाकों में बसे. पृथ्वीपुर ,सलेमपुर ,बसहिया ,उभवा ,रामपुररूद्र आदि गांवों के लोग त्राहिमाम कर रहे है.

सलेमपुर गांव निवासी व पूर्व मुखिया सावित्री देवी का घर पानी की तेज धारा से ध्वस्त हो गया. घर के अंदर फंसे लोगों को एनडीआरएफ की टीम ने बाहर निकाला. वही सलेमपुर ,रामपुररूद्र आदि गांवों में बाढ़ में फंसे दर्जनो ग्रामीणों को एनडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू किया.

प्रखंड के आधे दर्जन गांवों के लोग बाढ़ का कहर झेल ही रहे थे कि गोपालगंज जिले में सारण तटबंध टूट जाने से बाढ़ का खतरा और बढ़ गया है. ग्रामीणों ने बताया कि सारण तटबंध के दो जगह टूट जाने के बावजूद नदी के जलस्तर में कोई कमी नही हो रही है. वही सारंगपुर एवं कोंध खीरी टोला में तटबंध में रिसाव होने की सूचना है जिससे लोगो मे भय व्याप्त है .

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें