सारण में फिर से मंडराने लगा बाढ़ का खतरा, नेपाल ने छोड़ा 4 लाख क्यूसेक पानी

सारण में फिर से मंडराने लगा बाढ़ का खतरा, नेपाल ने छोड़ा 4 लाख क्यूसेक पानी

Chhapra: सारण में फिर से बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. पानापुर.गंडक नदी के जलग्रहण क्षेत्रो में पिछले तीन दिनों से हो रही भारी बारिश एवं नेपाल द्वारा वाल्मीकिनगर बराज से लगभग चार लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से सारण में एक बार फिर बाढ़ की आशंका बढ़  गयी है.

जुलाई माह में गोपालगंज जिले के बैकुंठपुर थानांतर्गत पकहाँ गांव में सारण तटबंध टूटने से बाढ़ ने जिले के पानापुर ,मशरक ,तरैया ,अमनौर ,मढ़ौरा ,परसा ,दरियापुर आदि प्रखंडों में भारी तबाही मचायी थी .लगभग एक माह तक बाढ़ की विभीषिका झेल चुके लोगो की जिंदगानी धीरे धीरे पटरी पर लौट रही थी  लेकिन एक बार फिर संभावित बाढ़ की आशंका से लोग भयभीत है .

प्राप्त जानकारी के अनुसार तेज बारिश एवं नेपाल द्वारा भारी मात्रा में पानी छोड़े जाने से पकहाँ स्थित सारण तटबंध एक बार फिर ध्वस्त हो गया है. जिससे बाढ़ का पानी सारण जिले में दुबारा प्रवेश कर जाने की आशंका है .इस बीच जिला प्रशासन ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के पदाधिकारियों एवं स्वास्थ्यकर्मियों की छुट्टी रद्द कर दी है एवं सारण तटबंध की सतत निगरानी का आदेश दिया है.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें