अमनौर और गरखा प्रखण्ड की योजनाओं को शीघ्र पूर्ण कराने का DM ने दिया निर्देश

अमनौर और गरखा प्रखण्ड की योजनाओं को शीघ्र पूर्ण कराने का DM ने दिया निर्देश

Chhapra: गड़खा प्रखंड कार्यालय में गड़खा एवं अमनौर प्रखंड में चल रही सात निश्चय अंतर्गत हर घर नल का जल एवं पक्की गली-नालियां योजना तथा शौचालय निर्माण के प्रगति की समीक्षा जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने की. समीक्षा के दौरान दोनों प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी, पंचायत के प्रभारी पदाधिकारी, पंचायत सचिव, प्रोग्राम पदाधिकारी, कनीय अभियंता एवं स्वच्छताग्रही उपस्थित थे.

जिलाधिकारी ने इन दोनों प्रखंडों के चयनित पंचायतो में ली गयी योजनाओं मे पूर्ण योजनाओं की संख्या कम पाए जाने पर गड़खा प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी का अगले पंद्रह दिनों में तीन सौ योजनाओं को पूर्ण कराने एवं अमनौर प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी को अगले सात दिनों में 100 योजनाओं को पूर्ण करने का निदेश दिया.

जिलाधिकारी ने गड़खा के प्रखंड विकास पदाधिकारी को हर घर नल का जल योजना एवं पक्की गली-नालियां योजना के लिए आवंटित राशि को नियमानुसार सभी प्रक्रियाओं को पूर्ण करते हुए दो दिन में हस्तांतरण करने का निदेश देते हुए कहा कि आगे ली जाने वाली योजना का प्रक्कलन बनाना भी सुनिश्चित करें.

समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि लोंगो को जागरुक करने के लिए आई.ई.सी. गतिविधि को जोर शोर से चलाएँ. इसमे पंपलेट, बैनर, रात्रि चौपाल, दिवाल लेखन का कार्य करायें एवं जीविका के माध्यम से निगरानी समिति बनाकर उनके लोंगो को पहचान पत्र, सीटी एवं टोपी उपलब्ध करायें.

जिलाधिकारी के द्वारा गड़खा प्रखंड के मीठेपुर पंचायत के वार्ड संख्या- 12 एव ंमुकिमपुर पंचायत क वार्ड संख्या- 10 में चल रहे कार्यो का स्थानीय निरीक्षण भी किया गया. यहाँ पर नाली निर्माण गुणवता पूर्ण नही पाया गया. नाली रास्ते के बीच बनाया गया है और उसपर प्लास्टर भी सही ढ़ंग से नही किया गया है. जिसपर आवश्यक सुधार करने का निदेश दिया गया.

जिलाधिकारी ने देखा कि एक घर मे नल का जल का एक कनेक्शन दिया गया है जिसपर उन्होंने प्रत्येक घर में आवश्यकता अनुसार तीन कनेक्शन देने का निदेश दिया. जिलाधिकारी ने उपस्थित मुखिया वार्ड सदस्य एवं सचिव को निदेश दिया कि किसी भी परिस्थिति में एजेंसी के माध्यम से नली गली एवं नल जल का कार्य नही करायेंगे. वार्ड स्तर पर इन दोनों योजनाओं का कार्य वार्ड प्रबंधन एवं क्रियान्वयन समिति के द्वारा किया जाएगा. प्रखंड विकास पदाधिकारी इस समिति के खाते की नियमित जाँच कर यह सुनिश्चित करेंगे कि उक्त कार्य एजेंसी के माध्यम से नही कराया जा रहा है.

जिलाधिकारी ने गड़खा प्रखंड के मीठेपुर, रामपुर एवं श्रीफलवसंत पंचायत को 25 जुलाई तक ओडीएफ घोषित कराने एवं अमनौर प्रखंड के पैगामित्रसेन, धर्मपुर जाफर तथा अपहर पंचायतां को 25 जुलाई तक ओडीएफ घोषित कराने का लक्ष्य संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी को दिया गया. जिलाधिकारी ने इन प्रखंड़ों के समाजिक सुरक्षा योजना की भी समीक्षा की गयी.जिसमें पाया गया कि गड़खा प्रखंड में 250 आवेदन एवं अमनौर प्रखंड के 800 आवेदन पी.एफ.एम.एस के द्वारा निरस्त हुआ है जिसपर जिलाधिकारी के द्वारा पुनः आवेदनों की जाँच कराकर अपलोंड कराने का निदेश दिया.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.