रमजान: बच्चों ने रखा रोजा, मुल्क को मुश्किल दौर से बाहर निकालने की दुआ की

रमजान: बच्चों ने रखा रोजा, मुल्क को मुश्किल दौर से बाहर निकालने की दुआ की

Chhapra: कोविड-19 कोरोना वायरस को लेकर देश में संपूर्ण लॉक डाउन है. लॉक डाउन के दौरान मुस्लिम समुदाय का सबसे पवित्र महीने रमजान शुरू हो गया है. रमजान के पहले दिन बच्चों ने भी रोजा रखा. घर वालों ने सेहरी से लेकर इफ्तार तक विशेष ख्याल रखा.

9 वर्षीय सादिया तबस्सुम ने कहा कि मैं कई वर्षों से रोजा रख रही हूं. मुझे रोजा रखना अच्छा लगता है. रमजान महीना साल में एक बार आता है. वही मोहम्मद सूफिया अली ने कहा कि रमजान बरकतों का महीना है. लॉक डाउन की वजह से स्कूल की छुट्टी भी है. इसलिए इस बार में पूरा रोजा रखूंगा.

वहीं 8 वर्षीय माज़ आलम ने कहा कि हम सब करोना जैसी वैश्विक महामारी से जूझ रहे हैं. हम सबको इससे मिलकर लड़ना है. घर में रहकर अल्लाह की इबादत करनी है और नमाज पढ़ना है. यह समय गुनाहों के तौबा करने का है. अपने मुल्क और दुनिया के लिए दुआ कर रहे हैं.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें