छत्तीसगढ़ के बीजापुर और सुकमा में शहीद हुए 22 वीर शहीदों के शहादत पर AISF ने निकाला कैंडल मार्च

छत्तीसगढ़ के बीजापुर और सुकमा में शहीद हुए 22 वीर शहीदों के शहादत पर AISF ने निकाला कैंडल मार्च

Chhapra: शहर के नगरपालिका चौक से छत्तीसगढ़ के बीजापुर और सुकमा में शहीद हुए जांबाज सिपाहियों के शहादत पर एआईएसएफ सारण जिला परिषद द्वारा कैंडल मार्च निकाल वीर सपूतों को नमन किया गया। एआईएसएफ के जिला सचिव अमित नयन ने आक्रोश प्रकट करते हुए कहा कि आज देश में एक तरफ किसान तो दूसरी तरफ जवान आए दिन अपनी जानें गवांते आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ की सुकमा और बीजापुर की घटना कोई नई नहीं है। आए दिन नक्सली हमला होते रहता है। सवाल यह है कि आखिर कब तक हमारे जवान इस नक्सली त्रासदी से जूझते रहेंगे। अपनी जाने गवातें रहेंगे।

उन्होंने कहा कि नक्सल प्रभावित क्षेत्रों की समस्याओं को लेकर केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार के बीच एक उच्च स्तरीय कमेटी बनाकर नक्सली समस्या निदान हेतु एक कमेटी बनाने की आवश्यकता है। नक्सलियों को आत्मसमर्पण के लिए प्रेरित करना सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक हो सकती है। तभी इस बृहद समस्या से निजात हिंदुस्तान को मिल सकती है। जिला अध्यक्ष रूपेश कुमार ने कहा पूरे देश का खून इस घटना से खौल रहा है वहीं जिला उपाध्यक्ष अभय कुमार चौबे ने कहा कि सैनिकों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए। सरकार को कठोर से कठोर कदम उठाने की आवश्यकता है।

कैंडल मार्च में मुख्य रूप से जिला अध्यक्ष रूपेश कुमार यादव, उपाध्यक्ष अभय कुमार चौबे, अविनाश कुमार उपाध्याय, विश्वजीत कुमार सिंह, अंकुश कुमार, अमन राज, विशाल राय, विकास कुमार यादव, प्रकाश कुमार यादव,राजीव, इरफान खान, सलीम खान, नवजीवन कुशवाहा मुख्य रूप से उपस्थित थे।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें