विषाक्त चाउमीन और छोला खाने से 22 बच्चे बीमार

विषाक्त चाउमीन और छोला खाने से 22 बच्चे बीमार

Panapur: सोमवार को सतजोड़ा के बगडीहा नट टोली में 22 बच्चे डायरिया से पीड़ित हो गए.आनन फानन में तुरंत पीड़ित बच्चो को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया. जहाँ उनका इलाज किया जा रहा है.

घटना की जानकारी स्थानीय मुखिया प्रतिनिधि बबलु सिंह तथा सरपंच सुदामा शार्मा ने पीएचसी पानापुर के चिकित्सा पदाधिकारी को सूचित किया.

सूचना मिलते हीं चिकित्सा पदाधिकारी अपने कर्मियों के साथ घटना स्थल पर पहुंचकर स्थिति को काबू में किया. सभी डायरिया से ग्रसित बच्चों को आवश्यक दवाईयां दी गई तथा सबको स्लाईंग किया जा रहा है. पीएचसी की टीम सुबह 9 बजे से हीं पहुंचकर सभी का देखभाल कर रही है.

चिकित्सा पदाधिकारी  जे ए गोस्वामी ने बताया कि बच्चों को फ़ूड पॉइज़निंग हो गया है.
इसी के कारण उनकी तबियत खराब हो गयी है.

ग्रामीणों ने बताया कि बच्चे रविवार को ठेले पर बेंचने आए चाउमीन एवं छोला को खायें है. फूड प्वायजनिंग से जो बच्चे प्रभावित हुए हैं. उनमें अंजली कुमारी 4 वर्ष, देवराज कुमार 6 वर्ष पिता-तेरह नट, संध्या कुमारी पिता-सुरेश नट, मौसमी कुमारी पिता-मुरारी नट, दुर्गावती कुमारी पिता पिंकू नट, गुंजा कुमारी पिता-सुरेश नट, दीवान कुमार 3 वर्ष पिता-तेरह नट, रंजन कुमार 5 वर्ष पिता-विनोद नट सहित 22 बच्चे शामिल है.

जिसमें अंजलि कुमारी, गूंजा कुमारी तथा देवराज कुमार की स्थिति अभी नाजुक बनी हुई थी.

ग्रामीण रवि रंजन कुमार नट, संतोष नट, गुलज़ार नट के सक्रियता से एक बड़ा हादसा होने से बच गया. घटना कि सूचना पाकर स्थानीय विधायक मुंद्रिका प्रसाद राय तथा बीडीओ मो सज्जाद ने पीड़ित परिवार से मिलकर उनका हाल जाना.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें