बजट 2021: युवाओं, किसानों, दलित-पिछड़ों और देश के भविष्य पर कुठाराघात: रवि रंजन

बजट 2021: युवाओं, किसानों, दलित-पिछड़ों और देश के भविष्य पर कुठाराघात: रवि रंजन

Chhapra: वित्तमंत्री द्वारा पेश किया गया बजट देश के युवाओं, किसानों, दलित पिछड़ों के हितों पर कुठाराघात करने वाला है. उक्त बातें युवा राजद के प्रवक्ता रवि रंजन ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कही.

उन्होंने बजट को देश को आर्थिक रूप से खोखला करने वाला, मध्यम वर्ग, मजदूरों, प्रत्यक्ष कर दाता, सरकारी कर्मचारियों के हितों को नुकसान पहुंचाने वाला करार दिया.

उन्होंने कहा कि देश की मिश्रित अर्थव्यवस्था में सरकारी और निजी क्षेत्र के बीच संतुलन आवश्यक है. जबकि देश के सरकारी उपक्रमों BPCL, एयर इंडिया, शिपिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया,पवन हंस, भारत अर्थ मूवर्स लिमिटेड आदि कंपनियों को निजी हाथ में सौंपना बड़ी चिंता का विषय है.
सरकार को अपने फैसलों पर पुनर्विचार करना चाहिए. सरकारी क्षेत्र के बैंकों और बीमा कंपनियों का निजीकरण भी चिंताजनक है.देश के कर दाताओं के पैसे से बनाये गए उद्यमों को निजी हाथों में सौंपना जनता के साथ धोखा है.

देश नहीं बिकने दूँगा के नारे वाली सरकार सत्ता में आने के बाद सार्वजनिक सम्पत्तियों को बेचने की दिशा में और आगे बढ़ गयी है. मोदी सरकार देश को आर्थिक रूप से कमजोर एवं खोखला बनाने की दिशा में ले जाने वाला कदम है.

पेट्रोल, डीजल पर सेस से महंगाई और उच्चतम स्तर पर पहुंचेगी.बिहार के लिए बजट में कोई प्रावधान नहीं जो बिहार वासियों के साथ धोखा है.

बिहार एनडीए के नेताओं द्वारा बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने के झूठे प्रोपेगेंडा का पोल खुल गया है. ऐतिहासिक पटना यूनिवर्सिटी को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा मुख्यमंत्री नहीं दिला पाए जबकि वे पूर्व छात्र रह चुके हैं.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें