महात्मा ज्योतिबा फूले की मनाई गयी जयंती

महात्मा ज्योतिबा फूले की मनाई गयी जयंती

Chhapra: सलेमपुर में पूर्व नगर पार्षद अध्यक्षा के आवास पर महात्मा ज्योतिबा फूले का जयंती समारोह का आयोजन किया गया. जिसकी अध्यक्षता जदयू नेता अशोक कुशवाहा ने किया. जयंती समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य प्रवक्ता जदयू संतोष कुमार महतो ने कहा कि महात्मा फूले के जन्म एक वर्ष के उपरांत ही उनके माता का देहांत हो गया. जिनका लालन पालन घर की दाई शगुनाबाई ने किया. शगुनाबाई ने माँ कि ममता का दुलार दिया. सात वर्ष के उम्र में महात्मा फूले को विद्यालय जाने का मौका मिला. जातिगत भेदभाव के कारण उन्हें स्कूल छोड़ना पड़ा फिर भी पढ़ाई कि ललक बनी रही. शगुनाबाई ने ज्योतिबा फूले को घर में ही पढ़ाई करने में मदद की.

उन्होंने कहा कि उस समय जात-पात की दीवार बहुत ऊँची थी. महात्मा फूले ने अपने जीवन में सत्य शोधक समाज नामक संगठन की स्थापना की अपने जीवनकाल में उन्होंने कई पुस्तकें लिखी. जिसमे तृतीय रत्न एवम छत्रपति शिवाजी एवम किसान के कोरा आदि पुस्तकें लिखी उनके संगठन संघर्ष के कारण सरकार ने एग्रीकल्चर एक्ट पास किया. वह हमेशा धर्म, समाज और परंपराओं के सत्य के सामने लाने का प्रयास किया. सभा को संबोधित करने वालो में जदयू नेता ईश्वर राम, जदयू नेता छठिलाल प्रसाद, शशिभूषण गुप्ता, संजय कुशवाहा, सदाम हुसैन, गंगा महतो, बिन्दा महतो, रंगलाल महतो सहित कई नेता मौजूद रहे.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें