कोरोना पाॅजिटिव मरीज रिकवरी के बाद कब लगवायें वैक्सीन, नयी गाइडलाइन जारी

कोरोना पाॅजिटिव मरीज रिकवरी के बाद कब लगवायें वैक्सीन, नयी गाइडलाइन जारी

अगर आपने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ली है और आप संक्रमित हो गये तो आपको दूसरे डोज के लिए तीन महीने तक इंतजार करना होगा. स्वास्थ्य मंत्रालय की नयी गाइडलाइन के अनुसार अगर कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो जाता है तो उसकी रिकवरी के तीन महीने बाद ही उसे वैक्सीन का दूसरा डोज लगेगा.

स्वास्थ्य मंत्रालय की नयी गाइडलाइन में यह बताया गया है कि अगर कोई व्यक्ति किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हो और उसे अस्पताल में भरती होना पड़ा हो और अगर वह आईसीयू में रहा हो तो ऐसे लोगों को भी वैक्सीन के लिए 4-8 सप्ताह तक इंतजार करना पड़ेगा.

मंत्रालय की नयी गाइडलाइन में कहा गया है कि कोई व्यक्ति वैक्सीन लेने के 14 दिन के बाद और कोरोना पीड़ित व्यक्ति कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद रक्तदान कर सकता है. स्तनपान कराने वाली महिलाओं को वैक्सीन लगाने की इजाजत दे दी गयी है. गाइडलाइन में कहा गया है कि टीकाकरण से पहले रैपिड एंटीजन टेस्ट की आवश्यकता नहीं होगी.
मंत्रालय की ओर से यह कहा गया है कि नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप आॅफ वैक्सीन एडमिनिस्ट्रेशन की सिफारिश को मान लिया गया है और इस बारे में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सूचित कर दिया गया है.

कुछ दिनों पहले सरकार ने कोविशील्ड वैक्सीन को लेकर यह कहा था कि इस वैक्सीन के दूसरे डोज में 12-16 सप्ताह का अंतर होना चाहिए. उससे इस वैक्सीन के दूसरे डोज का अंतर 6-8 सप्ताह का था. जब से सरकार ने वैक्सीन के दो डोज के बीच अंतराल को बढ़ाया है एक्सर्ट यह मांग कर रहे थे कि जिन्हें कोरोना का संक्रमण हुआ है उन्हें वैक्सीन तीन महीने या फिर उससे ज्यादा के अंतराल पर दिया जाये.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें