इतिहास के पन्नों मेंः 10 मई

इतिहास के पन्नों मेंः 10 मई

नेल्सन मंडेला की ताजपोशीः नस्लभेद के खिलाफ मुहिम में पूरी ज़िंदगी लगा देने वाले नेल्सन मंडेला दक्षिण अफ्रिका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति बने। वे 10 मई 1994 से 14 जून 1999 तक इस पद पर रहे।
इससे पहले 1993 में उन्हें एफडब्लूडी क्लार्क के साथ संयुक्त रूप से नोबल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया। नेल्सन मंडेला के राष्ट्रपति बनने का सफर बेहद चुनौतीपूर्ण और कड़ी यातनाओं से भरा रहा। राष्ट्रपति बनने से पहले वे दक्षिण अफ्रीका में सदियों से चल रहे नस्लवाद का विरोध करने वाले अफ्रीकी नेशनल कॉंग्रेस और इसके सशस्त्र गुट `उमखोंतो वे सिजवे’ के अध्यक्ष रहे।
अपने संघर्ष के दौरान उन्होंने 27 साल रॉबेन द्वीप पर बने कारागार में बिताए जहां उन्होंने कोयला खनिक के रूप में काम किया। 1990 में एक समझौते के बाद उनकी रिहाई हुई और वे दुनिया भर में रंगभेद के खिलाफ स्वर उठाने वालों के प्रतीक और उनके लिए आदर्श व्यक्तित्व बने। संयुक्त राष्ट्रसंघ ने उनके जन्मदिन को नेल्सन मंडेला अंतरराष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया।
अन्य अहम घटनाएंः
1427ः इटली के खोजकर्ता और नाविक कोलंबस ने कायमान द्वीप की खोज की।
1526ः पानीपत की लड़ाई जीतकर मुगल शासक बाबर देश की तत्कालीन राजधानी आगरा पहुंचा।
1655ः ब्रिटिश सेना ने जमैका पर कब्जा किया।
1857ः अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत। मेरठ की तीनों रेजिमेंट के सिपाहियों ने बगावत का झंडा लेकर दिल्ली कूच किया।
1945ः रूसी सेना ने चेक गणराज्य की राजधानी प्राग पर कब्जा किया।
1959ः सोवियत सेना अफगानिस्तान पहुंची।
1972ः अमेरिका ने नेवादा में परमाणु परीक्षण किया।
1993ः संतोष यादव दुनिया के सबसे ऊंचे शिखर एवरेस्ट पर दो बार पहुंचने वाली पहली महिला पर्वतारोही बनीं।

 

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें