छपरा जंक्शन: रेलवे ई-टिकट का अवैध कारोबार करने वाले टिकट दलाल की हुई गिरफ्तारी

छपरा जंक्शन: रेलवे ई-टिकट का अवैध कारोबार करने वाले टिकट दलाल की हुई गिरफ्तारी

Chhapra:  निरीक्षक मनोज कुमार सिन्हा, उप निरीक्षक संजय कुमार राय, सउनि मिथलेश शुक्ला, हेड कान्स. रवि प्रकाश शुक्ला, कान्स प्रताप सिंह सभी अपराध आसूचना शाखा/छपरा व उप निरीक्षक अबु फरहान गफ़्फ़ार टास्क टीम/छपरा तथा प्रभारी निरीक्षक अनिरुद्ध राय, हेड कान्स.मर्याद सिंह, हेड कान्स. राजकिशोर, कान्स. उमेश कुमार, कान्स. वृजबहादुर/सभी रे.सु.बल पोस्ट छपरा तथा कान्स महाप्रताप सिंह , कान्स अभिषेक कुमार सिंह दोनों अ.आ.शा./मुख्यालय/डिटेक्टिव विंग द्वारा संयुक्त रूप से फर्जी नाम पत्ते व विवरण के उपयोग से अवैध ई टिकट दलाली करने के संबंध मे मुख्यालय से प्राप्त सूचना व विवरण के आधार पर एकमा बाजार/छपरा स्थित कृतिक ट्रेवल्स नामक दुकान पर छापा मारकर उक्त दुकान के संचालक रनित कुमार s/o कृष्णा कुमार सिंह r/o ग्राम- हंसराजपुर एकमा, थाना-एकमा, जिला- छपरा सारण,उम्र 25 वर्ष को फेक नाम पत्ते से आईआरसीटीसी की कुल 142 फर्जी पर्सनल आईडी तैयार कर तथा उसपर रेलवे का ई टिकट बनाकर अवैध रूप से बेचने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में पकड़े गए उपरोक्त अभियुक्त द्वारा बताया गया कि उसके द्वारा फर्जी नाम पत्ते व विवरण से आईआरसीटीसी की सभी पर्सनल यूजर आईडी बनाकर उसपर जरूरमंद व्यक्तियों से रेलवे ई टिकटों का आर्डर प्राप्त कर तथा बनाकर ग्राहकों को ₹200 से 300 रुपये प्रति व्यक्ति या करीब 800 से 1000 रुपये प्रति टिकट लाभ प्राप्त कर बेचा जाता है। उपरोक्त सभी IRCTC आईडी, मोबाइल व लैपटॉप को चेक करने पर कुल 93 अदद सामान्य/तत्काल रेलवे ई टिकट कीमती 92294.69/- रुपये (आगे की तिथियों के 01अदद तत्काल ई टिकट कीमत 1884.9/- रुपये , 31अदद सामान्य ई टिकट कीमत 30241.88/- रुपये तथा पीछे की तिथियों के 59 अदद तत्काल ई टिकट कीमत 59279.31/- रुपये व 02 अदद सामान्य ई टिकट कीमत 888.6/- रुपये) का प्रिंट आउट प्राप्त हुआ। दुकान से अभियुक्त द्वारा रेलवे ई टिकट बनाने में प्रयुक्त 01 अदद लैपटॉप तथा 03 अदद प्रिंटर, 01 अदद माउस व कीबोर्ड, नगद 690/- रुपये, 01 अदद मोबाइल आदि को जब्त किया गया। पकड़ा गया अभियुक्त आईआरसीटीसी के फ्रेंचाइज SMART SHOPE का अधिकृत एजेंट है, जिसकी एजेंट आईडी INPAT039018529 है। उपरोक्त अभियुक्त द्वारा करीब 04 वर्षों से इस अनाधिकृत व गैरकानूनी कार्य में संलिप्त होना स्वीकार किया गया। अभियुक्त के लैपटॉप में SHARP और DELTA नामक प्रतिबंधित तत्काल सॉफ्टवेयर प्राप्त हुआ। मामले में उपरोक्त अभियुक्त के विरुद्ध रेसुब पोस्ट छपरा पर रेल अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें