इतिहास के पन्नों में: 20 अक्टूबर

इतिहास के पन्नों में: 20 अक्टूबर

हाईकोर्ट की पहली महिला जज: भारतीय विधिक व्यवस्था में इतिहास रचने वाली चंद महिलाओं में एक हैं- जस्टिस लीला सेठ।20 अक्टूबर 1930 को लखनऊ में पैदा हुईं लीला सेठ देश के किसी भी हाईकोर्ट की पहली मुख्य न्यायाधीश बनीं। उच्च न्यायालय (हिमाचल प्रदेश) की मुख्य न्यायाधीश बनने वाली लीला सेठ दिल्ली उच्च न्यायालय की भी पहली महिला मुख्य न्यायाधीश थीं। वे देश की पहली ऐसी महिला हैं, जिन्होंने लंदन बार परीक्षा में शीर्ष स्थान हासिल किया।

महिलाओं से भेदभाव, संयुक्त परिवार में लड़की को पिता की संपत्ति में बराबरी का हक और पुलिस हिरासत में राजन पिलाई की मौत जैसे कई चर्चित न्यायिक मामलों में विशेष योगदान के कारण लीला सेठ सुविख्यात रही हैं। उन्होंने कलकत्ता से वकालत की शुरुआत करते हुए पटना और दिल्ली में वकालत की।

लीला सेठ की जिंदगी काफी संघर्षपूर्ण रही। उनकी जीवनी ‘ऑन बैलेंस’ को 2003 में पेंगुइन इंडिया ने प्रकाशित किया। वर्ष 2010 में उनकी लिखी ‘वी, द चिल्ड्रन ऑफ इंडिया’ और 2014 में ‘टॉकिंग ऑफ जस्टिस: पीपल्ज राइट्स इन मॉडर्न इंडिया’ प्रकाशित हुई। लीला सेठ का 05 मई 2017 को 86 साल की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।

अन्य अहम घटनाएं:

1568: अकबर ने चित्तौड़गढ़ पर आक्रमण किया।

1774: कोलकाता (तत्कालीन कलकत्ता) भारत की राजधानी बनी।

1947: भारत-पाकिस्तान का पहला युद्ध शुरू हुआ।

1978: विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग का जन्म।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें