परमाणु सक्षम निर्भय क्रूज मिसाइल का एक और परीक्षण, सेना में जल्द होगी शामिल

परमाणु सक्षम निर्भय क्रूज मिसाइल का एक और परीक्षण, सेना में जल्द होगी शामिल

– आकाश में मंडराने और पैंतरेबाजी के बाद लक्ष्य को नष्ट करने में माहिर है मिसाइल
– लगभग 1500 किलोग्राम वजन वाली मिसाइल की 1000 किलोमीटर दूरी तक है मारक क्षमता

नई दिल्ली: सतह से हवा में मार करने वाली निर्भय क्रूज मिसाइल के उन्नत संस्करण का चांदीपुर में एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) के लॉन्च पैड नंबर 3 से दोपहर 3ः08 बजे सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। मिसाइल ने स्वदेशी क्रूज इंजन के साथ लगभग 150 किलोमीटर तक उड़ान भरी और उम्मीद के मुताबिक इंजन ने अपनी कार्यक्षमता दिखाई। उपयोगकर्ता परीक्षण के अगले दौर के बाद निर्भय क्रूज मिसाइलों को औपचारिक रूप से सेना में शामिल किये जाने की उम्मीद है।

निर्भय क्रूज मिसाइल के अब तक आठ विकास परीक्षण पूरे किए जा चुके हैं। आकाश में मंडराने और पैंतरेबाजी के प्रदर्शन में माहिर यह मिसाइल लंबी दूरी तक परमाणु हथियार ले जाने और सभी मौसम में कई लक्ष्यों के बीच हमला करने में सक्षम है। छह मीटर लंबी और लगभग 1500 किलोग्राम वजन वाली यह मिसाइल 1000 किलोमीटर से अधिक दूरी तक मार कर सकती है। दो पंखों के साथ यह मिसाइल 500 मीटर से लेकर चार किलोमीटर की ऊंचाई पर उड़ान भरने में सक्षम है। मिसाइल को टेक ऑफ के लिए ठोस रॉकेट बूस्टर से संचालित किया जाता है, जिसे उन्नत प्रणाली प्रयोगशाला (एएसएल) में विकसित किया गया है। आवश्यक वेग और ऊंचाई तक पहुंचने पर मिसाइल में लगा टर्बोफैन इंजन इग्निशन के रूप में प्रयोग किया जाता है।

दुश्मन के रडार से बचने के लिए यह नीची ऊंचाई पर भी उड़ान भर सकती है। भू-भाग पर चलने वाली मिसाइल होने के कारण निर्भय को दुश्मन के रडार से पहचानना मुश्किल है। मिसाइल अपने लक्ष्य के क्षेत्र को कई मिनट तक घेरती रहती है और फिर सही समय पर सही जगह से टकराती है। इस मिसाइल के सभी पांचों विकास परीक्षण पूरे किये जा चुके हैं। इसलिए अब उपयोगकर्ता परीक्षण किए जा रहे हैं। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने निर्भय मिसाइल के विकास परीक्षण में सभी मिशन उद्देश्यों को पूरा करने के बाद स्वदेशी रूप से विकसित छोटे टर्बोफैन इंजन के साथ परीक्षण करने की योजना बनाई थी। यह मिशन की आवश्यकताओं के आधार पर अलग-अलग प्रकार के 24 हथियारों को वितरित करने में भी सक्षम है।

इसी क्रम में मंगलवार को भारत ने ओडिशा के तट पर डीआरडीओ ने सबसोनिक क्रूज मिसाइल ‘निर्भय’ का देसी माणिक टर्बो फैन इंजन के साथ सफलतापूर्वक परीक्षण किया। स्वदेशी प्रौद्योगिकी क्रूज मिसाइल (आईटीसीएम) ने स्वदेशी क्रूज इंजन के साथ लगभग 150 किलोमीटर तक उड़ान भरी। डीआरडीओ के मुताबिक निकट भविष्य में और उपयोगकर्ता परीक्षण किए जाएंगे। निर्भय लंबी दूरी की सभी मौसम में इस्तेमाल की जाने वाली सबसोनिक क्रूज मिसाइल है जिसे भारत में वैमानिकी विकास प्रतिष्ठान (एडीई) ने डिजाइन और विकसित किया है। मिसाइल को कई प्लेटफार्मों से लॉन्च किया जा सकता है और यह पारंपरिक और परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है। यह वर्तमान में चीन के साथ गतिरोध के दौरान वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) में सीमित संख्या में तैनात है।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें