प्रधानमंत्री ने समाजवादी पार्टी पर कसा तंज – लाल टोपियां उप्र के लिए ‘रेड अलर्ट’

प्रधानमंत्री ने समाजवादी पार्टी पर कसा तंज – लाल टोपियां उप्र के लिए ‘रेड अलर्ट’

गोरखपुर/नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को केंद्र और राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली सरकार के विकास कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि जब डबल इंजन की सरकार होती है, तो दोगुनी तेजी से काम होता है। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर क्षेत्र के विकास की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि गोरखपुर में आज का कार्यक्रम इस बात का प्रमाण है कि नए भारत के लिए कुछ भी असंभव नहीं है।

समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने आगे कहा, “लाल टोपी वालों को सरकार बनानी है, आतंकवादियों पर मेहरबानी दिखाने के लिए, आतंकियों को जेल से छुड़ाने के लिए। और इसलिए, याद रखिए, लाल टोपी वाले उप्र के लिए रेड अलर्ट हैं यानि खतरे की घंटी।” ‘लाल टोपी’ को लाल बत्ती और अपना खजाना भरने की चिंता थी।

प्रधानमंत्री आज पूर्वी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में 9600 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की तीन बड़ी विकासपरियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे। परियोजनाओं में 8,603 करोड़ रुपये की गोरखपुर उर्वरक संयंत्र, 1,011 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित एक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) गोरखपुर औरआईसीएमआर-क्षेत्रीय चिकित्सा अनुसंधान केन्द्र (आरएमआरसी), गोरखपुर की एक हाई-टेकप्रयोगशाला शामिल है। प्रधानमंत्री ने 22 जुलाई 2016 में गोरखपुर उर्वरक संयंत्र और गोरखपुर एम्स परिसर की आधारशिला रखी थी।

प्रधानमंत्री ने सपा पर निशाना साधते हुए कहा, “आज पूरा उप्र भली-भांती जानता है कि लाल टोपी वालों को लाल बत्ती से मतलब रहा है, आपकी दुख-तकलीफों से नहीं। लाल टोपीवालों को सत्ता चाहिए, घोटालों के लिए, अपनी तिजोरी भरने के लिए, अवैध कब्जों के लिए, माफियाओं को खुलीछूट देने के लिए।” उन्हें लोगों की दुर्दशा से कोई सरोकार नहीं था। इसलिए ‘लालटोपी’ को उप्र के लिए खतरा मानें।

प्रधानमंत्री ने पिछली सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि 2017 से पहले की सरकारों ने गोरखपुर एम्स के लिए जमीन देने में आनाकानी की गई। बहुत दबाव पड़ने पर बेमन से उन्होंने एम्स के लिए जमीन दी। ये लोग इस बात को कभी नहीं समझेंगे कि कोरोना के संकट काल में भी विकास के काम डबल इंजन सरकार ने रुकने नहीं दिया। लोहिया और जयप्रकाश नारायण के संस्कारों को ये लोग कब का छोड़ चुके हैं। आज पूरा उप्र जानता है कि लाल टोपी वालों को लाल बत्ती से मतलब रहा है। इन्हें सत्ता से मतलब रहा है, आतंकवादियों पर मेहरबानी दिखाने उन्हें जेल से छुड़ाने के लिए।

उन्होंने कहा कि पहले की दो सरकारों ने 10 साल में जितना भुगतान गन्ना किसानों को किया था लगभग उतना योगी सरकार ने अपनेसाढ़े 4 साल में किया है। 2014 से पहले यूरिया की किल्लत सुर्खियों में आती थी, अब स्थिति मेंसुधार हुआ है। हमारा लक्ष्य देश के हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज स्थापित करना है।

प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष पर क्षेत्र के विकास की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए कहा, “गोरखपुर में आज का कार्यक्रम इस बात का प्रमाण है कि नए भारत के लिए कुछ भी असंभव नहीं है जब वहठान ले। समाजवादी पार्टी पर तंज कसते हुए मोदी ने कहा, ‘आज पूरा उप्र जानता है कि ‘लाल टोपी’ (समाजवादी पार्टी) को अकेले ‘लाल बत्ती’ की परवाह है। हमेशा याद रखें कि ‘लाल टोपी’ उप्र के लिए रेड अलर्ट हैं – वे खतरेकी घंटी हैं।” “उनकाआपके दर्द और मुद्दों से कोई लेना-देना नहीं है। ‘लाला टोपी’ सत्ताचाहते हैं – घोटालों के लिए और अपने खजाने को भरने के लिए, अवैध अतिक्रमण के लिए, माफिया को स्वतंत्रता प्रदान करने केलिए।

जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “जब डबल इंजन की सरकार होती है, तोडबल तेजी से काम भी होता है। जब नेक नीयत से काम होता है, तो आपदाएं भी अवरोध नहीं बन पातीं। जब गरीब-शोषित-वंचित की चिंता करने वाली सरकार होती है,तोवो परिश्रम भी करती है, परिणाम भी लाकर दिखाती है।”

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि योगी ने गन्ना किसानों के लिए बीते सालों में अभूतपूर्व काम किया है। गन्ना किसानों के लिए लाभकारी मूल्य, हाल में साढ़े 3 सौ रुपए तक बढ़ाया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले की दो सरकारों ने 10 साल में जितना भुगतान गन्ना किसानोंको किया था लगभग उतना योगी सरकार ने अपने साढ़े 4 साल में किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा, “5 साल पहले मैं यहां एम्स और खाद कारखाने का शिलान्यास करने आया था। आज इन दोनों काएक साथ लोकार्पण करने का सौभाग्य भी आपने मुझे ही दिया है। आईसीएमआर के रीजनल मेडिकल रिसर्च सेंटर को भी आज अपनी नई बिल्डिंग मिली है। मैं उप्र के लोगों को बधाई देता हूं।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने यूरिया का गलत इस्तेमाल रोका, यूरिया की 100 प्रतिशत नीमकोटिंग की। हमने करोड़ों किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड दिए ताकि उन्हें पता चलसके उनके खेत को किस तरह की खाद की जरूरत है। हमने यूरिया के उत्पादन को बढ़ाने परजोर दिया। बंद पड़े उर्वरक संयंत्र को फिर से खोलने पर ताकत लगाई।आज़ादी के बाद से इस सदी की शुरुआत तकदेश में सिर्फ 1 एम्स था। अटल जी ने 6 और एम्स स्वीकृत किए थे। बीते 7 वर्षों में16 नए एम्स बनाने पर देशभर में काम चल रहा है। हमारा लक्ष्य ये है कि देश के हर जिले में कम से कम एक मेडिकल कॉलेज जरूर हो। सब जानते थे कि गोरखपुर का फर्टिलाइजर प्लांट, इस पूरे क्षेत्र के किसानों के लिए, यहां रोजगार के लिए कितना जरूरी था। लेकिन पहले की सरकारों ने इसे शुरू करवाने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। सब जानते थे कि गोरखपुर में एम्स की मांग बरसों से हो रही थी। लेकिन 2017 से पहले जो सरकार चला रहे थे, उन्होंने एम्स के लिए जमीन देने में हर तरह के बहाने बनाए। आज हमारी सरकार ने सरकारी गोदाम गरीबों के लिए खोल दिए हैं और योगी जी हर घर अन्न पहुंचाने में जुटे हैं। इसका लाभ यूपी के लगभग 15 करोड़ लोगों को हो रहा है। हाल ही में पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना को,होलीसे आगे तक के लिए बढ़ा दिया गया है। पहले की सरकारों ने अपराधियों को संरक्षण देकर यूपी का नाम बदनाम कर दिया था। आज माफिया जेल में हैं और निवेशक दिल खोल कर उप्र में निवेश कर रहे हैं। यही डबल इंजन का डबल विकास है। इसलिए डबल इंजन की सरकार पर उप्र को विश्वास है।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें