मंत्रिमंडल से बर्खास्तगी के बाद पार्थ को तृणमूल ने पार्टी के सभी पदों से हटाया

मंत्रिमंडल से बर्खास्तगी के बाद पार्थ को तृणमूल ने पार्टी के सभी पदों से हटाया

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के बहुचर्चित शिक्षक नियुक्ति में कथित भ्रष्टाचार मामले में में गिरफ्तार तृणमूल कांग्रेस के नेता पार्थ चटर्जी पर एक ही दिन में दोहरी गाज गिरी है। गुरुवार दोपहर को मंत्रिमंडल से हटाए जाने के बाद शाम को उन्हें पार्टी के सभी पदों और प्राथमिक सदस्यता से भी हटा दिया गया है।

यह जानकारी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी ने एक प्रेस कांफ्रेंस करके दी। इससे पहले तृणमूल भवन में गुरुवार शाम 5 बजे अभिषेक बनर्जी की अध्यक्षता में अनुशासन रक्षा समिति की बैठक हुई। बैठक में अभिषेक के अलावा कुणाल घोष, सुब्रत बक्शी, मलय घटक, मंत्री ब्रात्य बसु सहित अन्य नेता उपस्थित थे। खास बात यह है कि इस अनुशासन रक्षा समिति के सदस्य पार्थ चटर्जी भी हैं, जो फिलहाल ईडी की हिरासत में हैं।

अनुशासन रक्षा समिति की बैठक के बाद मीडिया से मुखातिब अभिषेक बनर्जी ने कहा कि पार्थ को पार्टी के महासचिव, तृणमूल कांग्रेस के मुखपत्र जागो बांग्ला के संपादक, अनुशासन रक्षा समिति के सदस्य सहित सभी पांचों महत्वपूर्ण पदों से हटा दिया गया है। इसके अलावा उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी निलंबित कर दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि पार्टी प्रवक्ता और राज्य महासचिव कुणाल घोष ने सुबह ही ट्वीट कर पार्थ चटर्जी को मंत्रिमंडल और पार्टी के सभी पदों से हटाने की मांग की थी। इसके बाद से ही पार्थ की बर्खास्तगी के कयास तेज हो गए थे।

0Shares
[sharethis-inline-buttons]

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें