एनआईए ने वाझे की मौजूदगी में मीठी नदी से डीवीआर, नंबर प्लेट की बरामद

एनआईए ने वाझे की मौजूदगी में मीठी नदी से डीवीआर, नंबर प्लेट की बरामद

मुंबई (हि.स.): एंटीलिया प्रकरण और मनसुख हिरेन मौत केस की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को मीठी नदी से कुछ महत्वपूर्ण सबूत हाथ लगे हैं।

एसपी विक्रम खलाटे के नेतृत्व में एनआईए टीम मामले के आरोपित निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाझे को मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स इलाके में मीठी नदी के तट पर ले गई। यहां नदी से दो कंप्यूटर सीपीयू, दो डीवीआर, वाहन के दो नंबर प्लेट एवं अन्य सामान बरामद किए गए हैं।

सूत्रों ने बताया कि मनसुख हिरेन मौत मामले में आरोपित सचिन वाझे के ठाणे स्थित साकेत निवास का और मुंबई पुलिस मुख्यालय का डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर (डीवीआर) गायब हो गया था। इस मामले की जानकारी पूछताछ के बाद एनआईए को मिली थी। इसी वजह से एनआईए की टीम सचिन वाझे को लेकर मीठी नदी के तट पर गई थी। एनआईए टीम ने सफाइकर्मियों और मछुआरों के सहयोग से नदी की तलहटी से दो डीवीआर, दो सीपीयू, दो नंबर प्लेट समेत अन्य सामान बरामद किया है।

मनसुख हिरेन मौत मामले में एनआईए सचिन वाझे सहित, विनायक शिंदे और नरेश गौड़ से पूछताछ कर रही है। इस मामले एनआईए सचिन वाझे के सहयोगी रियाज काझी से कई बार पूछताछ कर चुकी है। रियाज काजी ने ही सचिन वाझे के साकेत निवास का डीवीआर पत्र के जरिए हाउसिंग सोसाइटी से लिया था। इसलिए आज मीठी नदी में हो रही छानबीन के वक्त हाउसिंग सोसाइटी के पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास एंटीलिया के पास से 25 फरवरी को संदिग्ध हालात में खड़ी स्कॉर्पियो कार मिली थी, जिसमें से जिलेटिन की 20 छड़ें बरामद की गई थीं। इसी सिलसिले में 13 मार्च को वाझे की गिरफ्तारी हुई थी। वाझे कारोबारी मनसुख हिरेन की हत्या मामले में आरोपित हैं। एंटीलिया के पास मिली स्कॉर्पियो कार हिरेन की थी। हिरेन पांच मार्च को ठाणे जिले के मुंब्रा स्थित रेतीबंदर खाड़ी में मृत पाए गए थे। मुंबई पुलिस ने 15 मार्च को वाझे को सहायक निरीक्षक पद से निलंबित कर दिया था।

हिन्दुस्थान समाचार

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें