प्रधानमंत्री 13 दिसंबर को करेंगे काशी विश्वनाथ धाम के पुनर्निमाण कार्यों का लोकार्पण

प्रधानमंत्री 13 दिसंबर को करेंगे काशी विश्वनाथ धाम के पुनर्निमाण कार्यों का लोकार्पण

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ धाम के पुनर्निमाण कार्यों का लोकार्पण करेंगे। इसके साथ ही 13 दिसंबर से 14 जनवरी मकर संक्रांति तक काशी में रोज एक उत्सव होगा। माह भर चलने वाले इस उत्सव की शुरूआत भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे।

भाजपा महासचिव तरुण चुघ और केंद्रीय मंत्री जी. किशन रेड्डी ने मंगलवार को पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि काशी विश्व की सबसे पुरानी नगरी है। काशी में भगवान भोलेनाथ का जो मंदिर है और उसके आस-पास के क्षेत्र का कई वर्षों से पुनर्निमाण नहीं हुआ था।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने काशी विश्वनाथ धाम के सौन्दर्यीकरण का काम शुरु कराया था। जिसका लोकार्पण प्रधानमंत्री के द्वारा 13 दिसंबर को होगा।

चुघ ने कहा कि कार्यक्रम को ऐतिहासिक एवं अभूतपूर्व बनाने के लिए भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी स्तर पर कई कार्यक्रमों की रचना की है। ये कार्यक्रम एक महीने तक पूरे देश में आयोजित किये जायेंगे जो 13 दिसंबर 2021 से शुरू होकर मकर संक्रांति तक अर्थात् 14 जनवरी 2021 तक चलेंगे। पार्टी के सभी जन-प्रतिनिधि इन कार्यक्रमों में भाग लेंगे। कई कार्यक्रमों की शुरुआत पहले ही हो चुकी है।

उन्होंने कहा कि13 दिसंबर को देश के सभी द्वादश ज्योतिर्लिंगों पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा, देश भर में लगभग 51,000 स्थानों पर बड़े स्क्रीन लगाये जायेंगे जिस पर “दिव्य काशी – भव्य काशी” के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण होगा। इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को देखने के लिए सभी प्रमुख मंदिरों, मठों एवं अन्य धार्मिक संस्थानों पर बड़े स्क्रीन लगाए जायेंगे। ज्योतिर्लिंगों सहित इन सभी जगहों पर आयोजित भव्य कार्यक्रमों में बड़े-बड़े धर्माचार्य, साधु-संत एवं प्रबुद्धजन सहित पार्टी के जनप्रतिनिधि भाग लेंगे। पार्टी कार्यकर्ता इन कार्यक्रमों को सफल बनाने के लिए युद्धस्तर पर जुटे हुए हैं।

भाजपा महासचिव ने कहा कि देश के सभी मंडलों में शिवालय तथा प्रमुख मठ मंदिरों में व्यवस्थित रूप से स्क्रीन लगा कर 13 दिसंबर के अभूतपूर्व कार्यक्रम का सीधा प्रसारण होगा जिसमें पार्टी कार्यकर्ता श्रद्धालुओं, प्रबुद्धजनों, पुजारियों, महंतों तथा साधु-संतों के साथ भाग लेंगे। उत्तर प्रदेश के सभी गाँवों में भी इस कार्यक्रम के सीधा प्रसारण की व्यवस्था की जायेगी जिसमें गाँव के लोगों के साथ पार्टी कार्यकर्ता भाग लेंगे।

पार्टी स्तर पर इस कार्यक्रम के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ के नेतृत्व में एक केंद्रीय समन्वय समिति द्वारा एक प्रभावी योजना बनाई गई है। सभी जिला मुख्यालयों में पार्टी ईकाई का एक बड़ा एवं भव्य कार्यक्रम किसी न किसी मंदिर, मठ, आश्रम या अन्य धार्मिक स्थल पर आयोजित होगा जिसमें साधु-संतों, धर्माचार्यों, प्रबुद्धजनों, पार्टी के सभी जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ पार्टी कार्यकर्ता भाग लेंगे।

चुघ ने कहा कि भले ही ये कार्यक्रम 13 दिसंबर से शुरू होंगे लेकिन इसके संबंध में कई कार्यक्रमों की शुरुआत पहले ही हो चुकी है। 08 और 09 दिसंबर, 2021 को देश के हर जिले में भारतीय जनता पार्टी द्वारा स्थानीय स्तर पर “दिव्य काशी- भव्य काशी” कार्यक्रम को लेकर प्रभात फेरी निकाली जायेगी। देशभर में दिनांक 10, 11 एवं 12 दिसंबर, 2021 को देश के सभी मंदिरों, मठों, आश्रमों, धार्मिक स्थलों में स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा जिसमें चुने हुए सभी प्रतिनिधि विधायक सांसद/मंत्री एवं मुख्यमंत्री/उप-मुख्यमंत्री भाग लेंगे। 13 दिसंबर के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए देश के सभी प्रांतों में संयोजक एवं दो-दो सह-संयोजक बनाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि काशी में स्वच्छता कार्यक्रम की शुरुआत 05 दिसंबर को ही हो चुकी है जो 12 दिसंबर 2021 तक चलेगी। काशी के हर वार्ड में स्वच्छता अभियान व्यापक रूप से चल रहा है। 13 दिसंबर के कार्यक्रम को ऐतिहासिक बनाने के लिए 08 दिसंबर से संवाद कार्यक्रम शुरू किया गया है जो 12 दिसंबर तक चलेगी। इसमें महानगर एवं काशी जिला से 300 वालंटियरों की टीम तैयार की गई है। भजन मंडली भी बनाई गई है।

चुघ ने कहा कि काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के दिन सभी नावें सजेंगी। नाव पर लाइट भी भी व्यवस्था होगी। काशी में लाइटिंग व्यवस्था (12 से 14 दिसम्बर, 2021) को चुस्त-दुरस्त बनाने के लिए एक बड़ी योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बनाई गई है। पार्टी संगठन भी इसमें सहयोग करेगा।

14 दिसंबर को भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री एवं उप मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन आयोजित किया जाएगा, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष नड्डा, भाजपा महसाचिव (संगठन) बीएल संतोष शामिल रहेंगे। इस कार्यक्रम के प्रभारी तरूण चुघ व सह प्रभारी आशीष सूद हैं। सभी मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री तीन दिन का धार्मिक व सांस्कृतिक प्रवास भी होगा। सभी दिनांक 13 दिसंबर की दोपहर काशी पहुंचेंगे।

भाजपा नेता ने कहा कि 17 दिसंबर को केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय द्वारा एवं उत्तर प्रदेश सरकार के शहरी विकास मंत्रालय महापौरों का सम्मेलन काशी में किया जाएगा। इस कार्यक्रम के प्रभारी अरूण सिंह व सह-प्रभारी रेखा गुप्ता हैं।

इसके साथ ही 23 दिसंबर को काशी में प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने हेतु एक महासम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में देश के कृषि वैज्ञानिक, उन्नत किसान सहित कृषि विशेषज्ञ भाग लेंगे।

भाजपा महासचिव ने कहा कि 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद के जन्मदिवस पर काशी विश्वनाथ धाम में युवा सम्मेलन का आयोजन करवाया जाएगा। इस कार्यक्रम को करने के लिए अलग-अलग समितियों का गठन केंद्रीय, प्रदेश व जिला स्तर पर किया गया है।

केंद्रीय मंत्री जी. किशन रेड्डी ने कहा कि काशी का देश और दुनिया में बहुत महत्व है। अभी तक कुछ कारणों से मंदिर में आने-जाने में दिक्कत होती थी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में काशी विश्वनाथ मंदिर की पुनर्निमाण किया गया है। लेकिन मंदिर के वास्तविक स्वरूप के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में अलग-अलग कार्यक्रम केंद्र सरकार, उत्तर प्रदेश सरकार और भाजपा द्वारा किए जा रहे हैं। ताकि देश भर के लोगों की इस कार्यक्रम में भागीदारी सुनिश्चित हो सके।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें