एक्यूट इनसेफेलाइटिस सिंड्रोम का कहर जारी, सूबे में अबतक 146 बच्चों की हुई मौत

एक्यूट इनसेफेलाइटिस सिंड्रोम का कहर जारी, सूबे में अबतक 146 बच्चों की हुई मौत

Patna/Muzaffarpur: एक्यूट इनसेफेलाइटिस सिंड्रोम ( AES) चमकी बुखार का कहर जारी है. इस बीमारी ने अब तक 146 बच्चों ने अपने जान गंवा दिए है. अकेले मुजफ्फरपुर में इस बीमारी से जान गंवाने वाली की संख्या 114 तक पहुँच गयी है.

चमकी बुखार से अबतक मुजफ्फरपुर में 114, हाजीपुर में 11, मोतिहारी में 7, समस्तीपुर में 5, शिवहर में 2, बेगूसराय, भोजपुर, सीवान, बेतिया और पटना PMCH में 1 बच्चे की मौत हुई है.

Acute Encephalitis Syndrome जिसे आम भाषा में चमकी बुखार कहा जाता है. इस बुखार से आमतौर पर बच्चे ज्यादा प्रभावित होते है. यह बिमारी 10 साल तक के बच्चो को अधिक प्रभावित कर रही है. इस बीमारी के लक्षण और बचाव के उपाय सभी को जानना चाहिए और साथ ही अपने आसपास के लोगों को भी इसके बारे में जागरूक करने के लिए अभियान चलाना चाहिए.

इस बिमारी के लक्षण
बच्चो को अचानक तेज बुखार आना, हाथ पैर मे अकड़न आना/टाईट हो जाना, बेहोश हो जाना, बच्चो के शरीर का चमकना/शरीर का कांपना, शरीर पर चकत्ता निकलना, ग्लूकोज़ का शरीर में कम हो जाना, शुगर कम हो जाना,

बच्चों को इस बिमारी से बचाने के लिए निम्न उपायों को अपनाया जा सकता है.
1. बच्चे को धूप से दूर रखें.
2. अधिक से अधिक पानी का सेवन कराये.
3. हल्का साधारण खाना खीलाएं.
4. बच्चो को जंक फुड से दूर रखे.
5. खाली पेट लिची ना खीलाएं.
6. रात को खाने के बाद थोड़ा मिठा ज़रूर खिलाएं.
7. घर के आसपास पानी जमा न होने दें, किटनाशक का छिड़काव करें.
8. रात को सोते समय मच्छरदानी का इस्तेमाल करें.
9. पूरे बदन का कपड़ा पहनाएं.
10. सड़े गले फल का सेवन ना कराएं, ताज़ा फल ही खिलाएं.
11. बच्चों के शरीर मे पानी की कमी ना होने दें. अधिक से अधिक बच्चो को पानी पिलाएं.

इस तरह के लक्षण दीखते ही तुरंत स्वास्थ्य केंद्र या सदर अस्पताल पहुंचे. अंधविश्वास के चक्कर में ना पड़े.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें