मांझी: रेल पुल से नदी में गिरे मजदूर के शव को गोताखोरों ने किया बरामद

मांझी: रेल पुल से नदी में गिरे मजदूर के शव को गोताखोरों ने किया बरामद

Chhapra/Manjhi: मांझी रेल पुल पर पेंटिंग के दौरान हाई टेंशन तार की चपेट में आकर नदी में गिरे मजदूर का शव बरामद कर लिया गया है. मजदूर को ढूंढने में जाल व अन्य सामग्री के साथ गोताखोरों का दल लगा हुआ था. मृतक बेगुसराय जिले के चकिया बरौनी थाना क्षेत्र के मलहीपुर निवासी अशोक साह का पुत्र दीपक कुमार (20 वर्ष) बताया जाता हैं.

बता दें कि पूर्वोत्तर रेलवे के छपरा–बलिया रेल खंड पर मांझी स्थित सरयू नदी पर स्थित रेलवे पुल के पाया नम्बर चार-पाँच से पुल पर लगे बिजली के करेन्ट से झुलस कर सरयू नदी में एक मजदूर शनिवार को गिर गया था. उसको ढूंढने का प्रयास उत्तरप्रदेश और स्थानीय पुलिस के साथ ही रेलवे पुलिस गोताखोरो के सहारे कर रही थी.

 

कैसे हुई दुर्घटना
घटना के सम्बन्ध में बताया जाता है कि छपरा–बलिया रेल खंड का विद्युतीकरण का कार्य 5 दिसम्बर को पूरा हो गया. इस रेलखंड पर ट्रेनों के परिचालन के लिए हाईटेंशन तार लगा हुआ है और उसमें विद्युत की धारा प्रवाहित हो रही है. मांझी रेलवे पुल में रंग रोगन का कार्य ठेकेदार ने शुरू कराया करीब एक दर्जन मजदूर काम कर रहे थे. इसी दौरान शनिवार को एक मजदूर हाईटेंशन विद्युत तार की चपेट में आ गया देखते ही देखते बुरी तरह झुलस नदी में गिर गया. आसपास काम कर रहे मजदूरों ने देखा और शोर मचाने लगे.

इस घटना के बाद मजदूरों व आसपास के लोगों के साथ गोताखोर भी उसको नदी में ढूंढने का प्रयास किया जा रहा था रविवार को मजदूर का शव गोताखोरों ने बरामद कर लिया. वह बेगुसराय जिले के चकिया बरौनी थाना क्षेत्र के मलहीपुर निवासी अशोक साह के पुत्र दीपक कुमार (20 वर्ष) है.

[sharethis-inline-buttons]

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.