महेंद्र मिसिर की 75वीं पुण्यतिथि पर पूर्वी धुनों के गीतों से गुलजार रहा कांही मिश्रवलिया

महेंद्र मिसिर की 75वीं पुण्यतिथि पर पूर्वी धुनों के गीतों से गुलजार रहा कांही मिश्रवलिया

जलालपुर: पूर्वी धुन के महान सम्राट पंडित महेंद्र मिश्र की 75वीं पुण्यतिथि पर पूर्वी धून के गीतों से मंगलवार को कांही मिश्रवलिया दिनभर गुलजार होता रहा. उनकी याद में मिश्रवलिया ग्राम स्थित रामजानकी संगीत महाविद्यालय में भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इसमें गाए गए पूर्वी धूनों के कर्ण प्रिय गीतों से सभी भाव विभोर हो उठे. 

चर्चित गायिका कुमारी राजश्री ने हंसी हंसी पूछे ली ललिता विशाखा से नयनवा काहे के लगवल हो श्याम, समां बांध दिया. वही काजल कुमारी ने आधी आधी रतिया के कुहके कोयलिया को गाकर सबको झूमने पर विवश कर दिया. चर्चित कलाकार चंदन सिंह मिंटू ने “एकेगो माटिया के दू दू गो खेलवनवा मोर सांवरिया रे गढेवाला एक एगो कुम्हार ‘गीत गाकर खूब तालियां बटोरी.

इसे भी पढ़ें:  मोटर साइकिल पर ले जाए जा रहे बच्चे के सुरक्षा प्रावधानों के लिए मसौदा नियम तैयार

कार्यक्रम के प्रारंभ में महाविद्यालय के प्राचार्य विनोद कुमार मिश्रा ने सरस्वती वंदना मधुर स्वर में प्रस्तुत किया. पंचायत चुनाव के कारण जारी आचार संहिता मे महाविद्यालय द्वारा कार्यक्रम को सीमित कर दिया गया था. कार्यक्रम के प्रारंभ में सभी ने पं महेन्द्र मिश्र की जलालपुर चौक स्थित आदम कद प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हे नमन करते हुए श्रद्धांजलि दी.

सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्राचार्य विनोद कुमार मिश्रा के नेतृत्व में चंदन सिंह मिंटू, हिमांशु सिंह, अतुल सिंह अनमोल, पप्पू कुमार, विकास कुमार, कुमारी राजश्री, पूर्णिमा कुमारी, सलोनी कुमारी, काजल कुमारी, ब्यूटी कुमारी, मिताली कुमारी, करिश्मा कुमारी, पुतुल कुमारी, शिखा कुमारी, रोशनी कुमारी, उषा कुमारी, प्रशंसा कुमारी, रिया कुमारी, रितु कुमारी, बिहारीलाल, अजीत कुमार, मृत्युंजय कुमार सभी ने एक से एक बढ़कर कर अपनी प्रस्तुति दी.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें