वे टू सक्सेस द्वारा भारत के टॉप सेंट्रल यूनिवर्सिटी में नामांकन के लिए कराई जाती है तैयारी

वे टू सक्सेस द्वारा भारत के टॉप सेंट्रल यूनिवर्सिटी में नामांकन के लिए कराई जाती है तैयारी

प्रबंधक पीके राठौर के कहा कि बिहार में 12वीं बाद स्नातक की पढ़ाई के लिए मौजूदा विश्वविद्यालयों और शिक्षा की बदहाली को देखते हुए पूरे राज्य के छात्र-छात्राओं में भारत के टॉप सेंट्रल यूनिवर्सिटी जैसे जेएनयू, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, बीएचयू, एमयू, जामिया मिल्लिया इस्लामिया जैसे विश्वविद्यालयों के प्रति झुकाव बढ़ गया है। किंतु इन विश्वविद्यालयों में नामांकन प्राप्त करने के लिए यूइटी जैसे कठिनतम प्रवेश परीक्षा में सफलता प्राप्त करना ही एकमात्र विकल्प हैं।

अतः बिहार के छात्र-छात्राओं को पहले दिल्ली, वाराणसी तथा इलाहाबाद जाकर प्रवेश परीक्षा की तैयारी करना पड़ता था किंतु 2017 से बिहार के छपरा में बीएचयू के पूर्ववर्ती छात्र पी.के राठौर ने बिहार की प्रथम एंट्रेंस इंस्टीट्यूट वे टू सक्सेस की स्थापना की और पिछले चार वर्षों में अपार रिजल्ट दिया. जिससे प्रभावित होकर कटिहार, नवादा, बेतिया, पटना, बेगूसराय, अररिया, सिवान, गोपालगंज, मधुबनी, मुजफ्फरपुर इत्यादि विभिन्न जिलों के बच्चों में 12 वीं बाद छपरा आकर पढ़ाई करना और सफलता प्राप्त करना आम बात हो गया हैं।

वे टू सक्सेस द्वारा डिजिटल बोर्ड से ऑनलाइन तैयारी भी कराई जाती हैं. ताकि जो बच्चे छपरा आकर नहीं पढ़ सकते हैं वे घर बैठे ही ऑनलाइन तैयारी कर सके। पीके राठौर की कोचिंग छपरा, सिवान तथा गोपालगंज की पहली कोचिंग बन चुकी है जहां डिजिटल बोर्ड से पढ़ाई करवाया जाता हैं ताकि छात्र-छात्राओं को और ज्यादा बेहतर और एडवांस बनाया जा सके। वे टू सक्सेस भारत की एकमात्र एंट्रेंस संस्थान​ हैं जो अपने यहां पढ़ाई करने वाले बच्चों का रिजल्ट करवाने के बाद ही अपनी फीस लेती हैं । और कई समाजिक कार्यो के अलावा जरूरत मंद छात्र-छात्राओं को मदद भी पहुंचाती है। ताकि हर गरीब, किसान, मजदूर की बेटे बेटियां भारत के वैसे विश्वविद्यालय में पढ़ाई कर सके जहां 63 देशों के छात्र पढ़ते हैं।

बता दें कि जो छात्र 12 वीं बाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के एंट्रेंस एग्जाम में सफलता प्राप्त करता हैं उसे इन विश्वविद्यालयों में विभिन्न प्रकार की सुविधाएं मुफ्त प्राप्त होता हैं ताकि एक गरीब छात्र भी अपने किसी भी बड़े से बड़े सपने को साकार कर सकें और इस देश में सिर्फ राजा का बेटा ही राजा ना बनें बल्कि राजा वह बने जो हकदार हो। अतः आप भी 12वीं बाद बड़े विश्वविद्यालय में पढ़ना चाहते हैं तो अगले महीने 9 या 16 फरवरी से छपरा आकर प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं या फिर घर बैठे ऑनलाइन कोर्स ले सकते हैं।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें