सोच बदलकर विश्वविद्यालय को नई दिशा देने की जरुरत: कुलपति

सोच बदलकर विश्वविद्यालय को नई दिशा देने की जरुरत: कुलपति

Chhapra: एनएसएस के विशेष कार्यक्रम में सिनेट हॉल में कुलपति प्रो डॉ फारूक अली ने कहा कि कई वर्षों के मेहनत से आपलोगों ने राष्ट्रपति स्तर तक के पुरस्कार ले चुके हैं. इसलिये कर्म करते रहिये और बहुत बहुत आगे बड़ें और सब मिल जेपी विवि छपरा को आगे बढ़ाये. सोच बदलकर सेवा करें.

कुलपति ने कहा कि आपलोगों की मदद से जेपी विश्वविद्यालय छपरा को मैं जरूर आगे ले जाऊँगा. जो नहीं आयेंगे उसे हटा दिजिये. विश्वविद्यालय को ऐसा बनायेंगे कि लोग यहां टहलने आयेंगे और अपने को स्वच्छ शुद्ध पर्यावरण में पाकर आनंदित होंगे. कई जगहों पर बहुत अच्छा काम हुआ है. एनएसएस के द्वारा इसलिये जेपी विश्वविद्यालय में भी आपलोग अच्छा काम करें और मेरा भी नाम आपके साथ होगा. आप हैं तो हम हैं.

उन्होंने कहा कि एनएसएस के माध्यम से बदलाव आनी चाहिये. नियम के अनुसार काम करेंगे और काम में कोई कटौती नहीं होगी. नये हिसाब किताब से काम शुरू किया जायेगा. इमानदार को डर किसका. इमानदारी से काम करते रहिये. जिस दिन आप सब भी कहेंगे कि ये मेरा विश्वविद्यालय है और अपना समझकर काम करेंगे तो हमलोग बहुत आगे होंगे.

मंच संचालन फिलॉसफी के हेड व एनएसएस के पदाधिकारी डॉं हरिश्चंद ने किया. धन्यवाद ज्ञापन एनएसएस के सचिव व विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार श्रीकृष्ण ने किया. इस अवसर पर पूर्व समन्वयक विद्या वाचस्पति मिश्र, डॉ सिद्दिकी, अनुपम कुमार, अनिता कुमारी, डॉ मधुबाला, डॉ पूनम, मंटू कुमार, मोहित कुमार, डॉ राजू कुमार, प्रवीण कुमार सहित दर्जनों पदाधिकारी मौजूद. थे.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें