छपरा में कोचिंग संस्थानों को खोलने की अबतक नहीं मिली अनुमति, आर्थिक परेशानी से जूझ रहे संचालक

छपरा में कोचिंग संस्थानों को खोलने की अबतक नहीं मिली अनुमति, आर्थिक परेशानी से जूझ रहे संचालक

Chhapra: बिहार में 28 सितंबर से स्कूलों को खोलने का आदेश दिया गया है,  लेकिन दूसरी तरफ अगले आदेश तक कोचिंग संस्थानों को खोलने की अनुमति नहीं दी गयी है. सरकार के इस आदेश के बाद सभी  कोचिंग संचालक एकजुट होकर सरकार से कोचिंग खोलने की अनुमति मांग रहे हैं. छपरा  के कोचिंग संचालकों ने इसको लेकर एक बैठक की और कहा कि देश में जब  सब कुछ खुल रहा है तो फिर कोचिंग क्यों नहीं खुल सकता? कोचिंग संचालकों ने कहा कि वह सभी  जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर इसकी मांग करेंगे.

सारण जिले के कोचिंग संचालकों ने कहा है कि 6 महीने से कोचिंग बंद होने के कारण आर्थिक स्थिति पर बुरा प्रभाव पड़ा है. देश में अनलॉक की प्रक्रिया चल रही है सब कुछ खुल गया है, बस कोचिंग संस्थानों को खोलने का आदेश नहीं दिया गया है.

कोचिंग एसोसिएशन सारण के बैठक में जिले भर के कोचिंग संचालक मौजूद थे.  संचालकों ने कहा कि 6 महीने से संस्थान बंद है, जिससे कई कोचिंग संचालक बहुत ही बुरी तरह से आर्थिक परेशानी से गुजर रहे हैं. सरकार को इस बारे में सोचना चाहिए.

संचालकों ने कहा कि वो सरकार की गाइड लाइन के अनुसार कोचिंग संस्थान खोलेंगे और कोविड का ध्यान रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ-साथ क्लास चलाएंगे संचालकों ने कहा कि सरकार को हमें छूट देनी चाहिए ताकि कोई शिक्षक भूखमरी का शिकार ना हो.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें