JPU में भव्य काव्य गोष्ठी का हुआ आयोजन, बिहार व यूपी के नामचीन कवियों ने बांधा समां

JPU में भव्य काव्य गोष्ठी का हुआ आयोजन, बिहार व यूपी के नामचीन कवियों ने बांधा समां

Chhapra: मंगलवार को जयप्रकाश विश्वविद्यालय छपरा के दीक्षांत समारोह की संध्या में एक भव्य काव्य गोष्ठी का आयोजन कुलपति प्रोफ़ेसर हरकेश सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुई. शाम ढलते ही संध्या 6:00 से बजे से रात्रि 9:00 बजे तक सीनेट हॉल सभागार में भोजपुरी और हिंदी के गीतों और गजलों की धार बहने लगी. अधिकांश गीत जो गाए गए, अधिकांश ग़ज़ल जो कहे गए वे सश्वर कंठ से निकले.

भागीदारों में अपने शहर छपरा के अलावा बिहार और उत्तर प्रदेश के नामचीन कवियों कवि थे. विषय वस्तु की दृष्टि से उन गीतों और गजलों में गाँव का दर्द था, आधुनिक सभ्यता और राजनीति की विद्रुपताओं के भाव थे , तो कहीं काव्य गोष्ठियों के शस्श्वत भाव प्रेम और व्यंग भी प्रचुर मात्रा में था.

छपरा शहर की कवियत्री और सामाजिक कार्यकर्ता कश्मीरा सिंह के कंठ से राष्ट्रप्रेम और नारी स्वातंत्र्य के भाव खिले तो मोहित कुमार और शंकर शरण में जीवन की विडंबनाओ के भावों को परोसा. लगातार 3 घंटे चले इस कार्यक्रम का प्रारंभ आगत कवियों को माला पहनाकर और साल से सम्मानित कर हुआ. उपस्थित जन समूह में जयप्रकाश विश्वविद्यालय के कई प्राचार्य गण प्राध्यापक व और कविता प्रेमी जन थे प्रमुख रूप से उपस्थित भागीदारों में प्रो पृथ्वीराज सिंह , प्राचार्य प्रमेंद्र रंजन , प्राचार्य कैलाश बैठा , प्रोफेसर सुमन सिंह , डॉक्टर आशा रानी लाल तथा कुछ नवनियुक्त अध्यापक गन आदि थे.

अपने अध्यक्षीय वक्तव्य में कुलपति हरिकेश सिंह ने भी जीवन के कुछ गीत गाये तथा कुछ नए पुराने हिंदी और भोजपुरी के गजलों को सुनाया. धन्यवाद ज्ञापन विश्वविद्यालय के कुलसचिव कैप्टेन कृष्णन ने किया. भाग लेने वाले कवियों में थे रिपुंजय निशांत , दक्ष निरंजन शम्भू , कश्मीरा सिंह , मोहित कुमार , शंकर शरण आदि के अतिरिक्त उत्तर प्रदेश के हास्य व्यंग के कुछ कवि.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें