जेपीयू प्रशासन छात्र -छात्राओं को स्नातक में नामांकन से वंचित करने के लिए रच रहा षड्यंत्र: आरएसए

Chhapra: आरएसए छात्र इकाई के द्वारा प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा गया है कि जयप्रकाश विश्वविद्यालय छपरा में शैक्षणिक आराजकता है। संगठन की नेत्री शिवानी पांडे गर्ग ने कहा कि वर्तमान विश्वविद्यालय प्रशासन सारण प्रमंडल के छात्र-छात्राओं के साथ न्याय नहीं कर रहा है। पिछले 5 माह से अधिक हो गया संगठन ने एक भी आंदोलन नहीं किया इस इंतजार में की नये कुलपति आए हैं शैक्षणिक व्यवस्थाएं एवं छात्र-छात्राओं की समस्याएं का अब समाधान होगा। समाधान का कौन कहे और शैक्षणिक अराजकता और बढ़ गया है? महाविद्यालय से लेकर विश्वविद्यालय कैंपस में भ्रष्टाचार का तांडव नृत्य हो रहा है। अब संगठन चुप नहीं बैठेगी आर एस ए छात्र इकाई सड़क से लेकर कानून की लड़ाई प्रारंभ करेगी।

आर एस ए विश्वविद्यालय छात्र प्रमुख श्रुति पांडे ने बताया कि स्नातक प्रथम सेमेस्टर सत्र 24 -28 के लिए जो नामांकन प्रक्रिया के लिए ऑनलाइन जो प्रक्रिया अपनाई जा रही है पूरी तरह से कुव्यवस्था फैला दी गई है। विश्वविद्यालय मैं जितने भी पदाधिकारी हैं वह चाहते ही नहीं है कि सारण प्रमंडल के छात्र-छात्राएं उच्च शिक्षा ग्रहण कर सके. एक षड्यंत्र के तहत गूगल फॉर्म पर नामांकन प्रक्रिया अप्लाई कराई जा रही है. जबकि गूगल फॉर्म एक फ्री ऐप है। इसपर लाखों छात्र-छात्राओं की नामांकन प्रक्रिया अपनाई ही नहीं जा सकती है.इसको कोई हैक कर लेगा राह चलते . छात्र-छात्राओं के पर्सनल डाटा का गलत उपयोग कर सकता है, हैक करके। विश्वविद्यालय प्रशासन को चाहिए कि किसी प्रोफेशनल वेबसाइट पर अपना सर्वर खरीद कर काम करना चाहिए. 29 मई से नामांकन प्रक्रिया अप्लाई चालू की गई है. आज के डेट तक मात्र एक हजार नामांकन के लिए अप्लाई हुआ है. प्रत्येक दिन मात्र मुश्किल से दस छात्र -छात्राओं का अप्लाई हो पा रहा है। उसके बाद लिंक काम करना बंद कर दे रहा है. इस पर सामान्य कार्य कोई कर ही नहीं सकता है. इंटरमीडिएट पास छात्र -छात्राओं की संख्या सारण प्रमंडल में लाख से अधिक है। इस ऐप पर नामांकन प्रक्रिया कैसे होगा?

किसी भी सरकारी संस्थान का पेमेंट मॉड किसी पेमेंट गेटवे के द्वारा होता है। अभी जो नामांकन प्रक्रिया का शुल्क रखा गया है उसका पेमेंट नॉर्मल यूपीआई से पेमेंट हो रहा है. क्यूआर कोड लगाकर. जिसका स्टूडेंट स्लिप भी नहीं मिल रहा है। लगातार पेमेंट फेल हो जा रहा है. बार-बार यूपीआई से पेमेंट करने पर पैसा भी स्टूडेंट का कट जा रहा है और वेबसाइट पर पेमेंट फेल भी दिखाने लग रहा है. और फॉर्म भी सबमिट नहीं हो रहा है। नामांकन प्रक्रिया को इतना पेचीदा बना दिया गया है की नामांकन के लिए सारण प्रमंडल के छात्र -छात्राएं अप्लाई ही नहीं करें.अपने आप सारण प्रमंडल के छात्र -छात्राएं उच्च शिक्षा से वंचित हो जाएंगे। मात्र इनका यही उद्देश्य है कि यहां के छात्राएं पढ़े नहीं।

 

0Shares
A valid URL was not provided.