चुनाव कार्य से गायब हुए कर्मी तो ख़ैर नही, डीएम का कड़ा रुख 14 अनुपस्थित कर्मियों पर कार्रवाई की प्रक्रिया

चुनाव कार्य से गायब हुए कर्मी तो ख़ैर नही, डीएम का कड़ा रुख 14 अनुपस्थित कर्मियों पर कार्रवाई की प्रक्रिया

Chhapra: पंचायत चुनाव 2021 के तहत जिले में पहले चरण का मतदान 29 सितंबर को होगा. सारण के माझी प्रखंड से हो रहे पंचायत चुनाव के शुरुआत में प्रशासन का कड़ा रुख दिख रहा है.

जिला प्रशासन द्वारा मांझी प्रखंड में प्रतिनियुक्त चुनाव कर्मियों की अनुपस्थिति पर कड़ा रुख अपनाया है. चुनाव कार्य में प्रतिनियुक्त 14 कर्मियों पर प्रशासनिक कार्रवाई की तलवार लटक रही है. जिला प्रशासन द्वारा चुनाव कार्य में विभिन्न पदों पर प्रतिनियुक्त मतदान कर्मियों की सूची जारी की गई है. 14 कर्मियों की जारी सूची में विभिन्न विभागों में कार्यरत कर्मी शामिल है.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिला प्रशासन द्वारा इन 14 कर्मियों से चुनाव कार्य में अनुपस्थिति का कारण पूछा गया है. साथ ही साथ उन पर प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई चल रही है. जिला प्रशासन की माने तो स्पष्टीकरण के पश्चात चुनाव कार्य में अनुपस्थित इन कर्मियों का निलंबन भी किया जा सकता है.

प्रशासन के इस आदेश के बाद चुनाव कार्य में लगे गर्मियों में खलबली मच गई है. अंदेशा जताया जा रहा है कि इस कार्रवाई के बाद कोई कर्मी प्रतिनियुक्ति के पश्चात अनुपस्थित नहीं रहेगा.

बताते चलें कि सारण जिले में 20 प्रखंडों में 10 चरणों में चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में एक कर्मी को दो, तीन एवं चार प्रखंडों में चुनाव कर्मी के रूप में प्रतिनियुक्त किया गया है.

जिला प्रशासन द्वारा इन कर्मियों को प्रशिक्षण देने के साथ-साथ इस कार्य के लिए भत्ता भी दिया जा रहा है. वहीं जिला प्रशासन द्वारा शारीरिक रूप से अक्षम एवं बीमार कर्मियों के लिए मेडिकल कैंप का आयोजन भी किया गया था. जिसमें सैकड़ों चुनाव कर्मियों ने अपनी अस्वस्थता का चिकित्सकीय प्रमाण देकर चुनाव कार्य से जांचोपरांत मुक्ति पाई थी.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें