स्नातकोत्तर के साथ स्नातक में भी लागू हो सीबीसीएस: RSA

Chhapra: स्थानीय राम जयपाल महाविद्यालय में RSA द्वारा छात्र महापंचायत लगाकर छात्र एवम छात्राओं की समस्या संग्रह किया गया.छात्र-छात्राओं के द्वारा 109 आवेदन छात्र महापंचायत में प्राप्त हुए. जिसमें लाइब्रेरी, प्रयोगशाला, खेलकूद प्रतियोगिता आयोजन, सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन करने हेतु एवं नियमित वर्ग संचालन के लिए आवेदन छात्रों द्वारा दिया गया.

छात्र महापंचायत को संबोधित करते हुए आर एस ए के छात्र नेता सह महाविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष मनीष कुमार ने कहा कि जितने भी आवेदन मिले हैं इन आवेदन के समाधान करने हेतु प्राचार्य को आवेदन भेजा जाएगा और इसे शीघ्र लागू कराया जाएगा.

महाविद्यालय में नियमित वर्ग संचालन हो इसके लिए हम लोग लगातार संघर्ष कर रहे हैं. इसमें विश्वविद्यालय सहयोग नहीं कर रहा है. जिस विभाग में शिक्षक नहीं है विश्वविद्यालय तुरंत अगर उस विभाग में शिक्षक उपलब्ध करा दें तो निश्चित वर्ग संचालन सुचारू रूप से नियमित हो जाएंगे.

महाविद्यालय के शिक्षक भी समय से आएं इसके लिए लगातार छात्र संघ एवं संगठन संघर्ष कर रहा है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए संगठन के विश्वविद्यालय अध्यक्ष सह काउंसिल मेंबर अर्पित राज गोलू ने कहा कि विश्वविद्यालय में बैठे हुए पदाधिकारी भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं स्नातकोत्तर में नए सत्र 18-20 में चॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम लागू करना है लेकिन इस पर विश्वविद्यालय प्रशासन थोड़ा भी ध्यान नहीं दे रहा.

स्नातक तृतीय खंड के परीक्षा होने जा रही हैं इसके पहले सिलेबस की तैयारी विश्वविद्यालय को कर लेना चाहिए. लेकिन भ्रष्टाचार करने में विश्वविद्यालय प्रशासन लिप्त है. छात्रों को उच्च शिक्षा से वंचित करने के लिए प्रत्येक दिन नए-नए भ्रमजाल विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा फैलाया जा रहा है. 70 फीसदी सिलेबस एक जैसा बनाया जाए.

यूजीसी का यह निर्देश स्नातक स्तर पर लागू किए जाने वाले चॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम (सीबीसीएस) का हिस्सा है. स्नातकोत्तर के साथ-साथ विश्वविद्यालय प्रशासन स्नातक में भी चॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम लागू किया जाए इस संगठन का मांग है और इसके लिए संगठन संघर्ष भी करेगी.

कार्यक्रम में प्रमुख रुप से छात्र संघ संयुक्त सचिव पूनम कुमारी, अनूप कुमार चौबे, बबलू कुमार, ठाकुर सोनू कुमार, पंकज कुमार, अंजली कुमारी, पूजा कुमारी, समेत छात्र संघ के सारे पदाधिकारी महाविद्यालय के उपस्थित थे.

0Shares
A valid URL was not provided.