DPMI छपरा में पैरामेडीकल के दर्जनों कोर्सों में शुरू हुआ एडमिशन, जानिए कैसे करायें एडमिशन

DPMI छपरा में पैरामेडीकल के दर्जनों कोर्सों में शुरू हुआ एडमिशन, जानिए कैसे करायें एडमिशन

#Advertorial

Chhapra: छपरा के उत्तरी दहियावां स्थित दिल्ली पैरामेडीकल संस्थान में 10 वीं और 12 वीं के बाद विभिन्न पारामेडिकल कोर्सों में एडमिशन शुरू हो गया. संस्थान में हर रोज ज़िले भर दर्जनों छात्र/छात्रा काउन्सलिंग कराने पहुंच रहे हैं. आपको बता दें कि छ्परा के दिल्ली पारा मेडिकल संस्थान में दर्जनों कोर्सों में नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गयी है.

पैरामेडीकल कोर्स के बाद नौकरी की आपार सम्भावना: निदेशक DPMI, Chhapra

संस्थान के निदेशक राजशेखर सिंह बताते हैं कि 10 वीं/ 12वीं के बाद पैरामेडिकल क्षेत्र में भी छात्र बेहतर व उज्जवल भविष्य बना सकते हैं. 12 वीं के बाद ग्रेजुएशन करने के साथ-साथ छात्र पैरामेडिकल के विभिन्न कोर्सों में नामांकन करा कर सर्टिफिकेशन ले सकते है. इसके तहत आप ट्रेनिंग भी ले सकते हैं. इसके बाद आपको देशभर के विभिन्न हॉस्पिटलों में आपको विभिन्न पदों पर नौकरी भी मिल सकती है. हाल ही में रेलवे ने भी पैरामेडिकल स्टाफ की नौकरी निकाली थी. इन कोर्सों में एडमिशन शुरू:

मेडिकल लैबोरेट्री टेक्निशियन ऑपरेशन थियेटर टेक्नीशियन रेडियोलॉजी, ब्लड बैंक टेक्नीशियन, कार्डिएक केअर टेक्नीशियन, फार्मेसी सहायक, दंत चिकित्सा सहायक, आपातकालीन चिकित्सा

Contact: 8929000537

मेडिकल लैबोरेट्री टेक्निशियन

मेडिकल लैबोरेट्री टेक्निशियन किसी भी मेडिकल लैबोरेट्री
टीम में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. इस कोर्स से प्रशिक्षित छात्र या छात्रा मेडिकल लैब में विभिन्न प्रकार के रोगों का निदान करने के लिए तरल पदार्थ उत्तक वरक नमूनों का विश्लेषण करता है. इस कोर्स में प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद व्यक्ति के लिए अनुसंधान एवं विकास केंद्र, उपकरण निर्माण कंपनी, प्रशिक्षण केंद्रों पर नौकरी की संभावना रहती है.

ऑपरेशन थियेटर टेक्नीशियन

ऑपरेशन थियेटर टेक्नीशियन बनना अपने आप में एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी. इसको के तहत ऑपरेशन थिएटर में ऑपरेटिंग रूम की तैयारी, सर्जन की टेक्निकल सहायता, उपकरण आपूर्ति व्यवस्था देखना, सर्जरीकल उपकरणों की स्थापना, उपकरणों को जांचना व समायोजित करना सिखाया जाता है. इस कोर्स के बाद आपको विभिन्न अस्पतालों, नर्सिंग होम ऑपरेशन थिएटर में नौकरी मिलने की संभावना है.

रेडियोलॉजी
रेडियोलॉजी तकनीशियन ओं को रेडियोग्राफिक उपकरण जैसे सीटी स्कैन एमआरआई, एक्स रे मशीन संचालित करने का प्रशिक्षण दिया जाता. अस्पतालों व अन्य स्थानों पर रेडियोलॉजी टेक्नोलॉजिस्ट की मांग हमेशा से रहती है. इस कोर्स के बाद आपको फिजियोथेरेपी सेंटर, अस्पताल , टेली रेडियोलॉजी में नौकरी की संभावना रहती है.

नामांकन प्रक्रिया के लिए आप संस्थान की वेबसाइट पर जाकर पूरी जानकारी ले सकते हैं.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.