Aug 20, 2018 - Mon
Chhapra, India
32°C
Wind 4 m/s, E
Humidity 70%
Pressure 747.81 mmHg

20 Aug 2018      

Home आपका सारण

Chhapra: डोरीगंज के चिरांद स्थित बंगाली बाबा घाट पर जयेष्ठ पूर्णिमा के अवसर पर गंगा महाआरती का आयोजन किया गया. चिरांद विकास परिषद् की ओर से आयोजित कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए संत गांगेय जी ने आरती देखने आये लोगो से गंगा मैया की वर्तमान स्थिति को देखने, सोचने का आह्वान किया. उन्होंने गंगा का सम्मान करने वाले लोगो से गंगा में गंदगी ना फेकने का आह्वान किया.

उन्होंने कहा कि गंगा मैया को आरती से ज्यादा चिकित्सा की जरूरत है. गंगा मैया तीन देवताओ का दर्शन कराती है. बृह्मा, शिव और विष्णु का आशीर्वाद गंगा में स्नान के साथ मिलता है. जहाँ जल है वही जीवन है. जो नदियों के जल को बांधता है वह असुर कहलाता है. नदियों का संबंध उसके जल प्रवाह से होता है.

घाटों से नदियों का कोई संबंध नही है लेकिन हम घाटों की चक्कर मे पड़े है. गंगा को लेकर शत प्रतिशत घोटाला हुआ है. नदियों में प्रवाह नही हुआ तो आखिर पैसा कहा लगा.

भगीरथ की पांच पीढ़ी गंगा को लाने के लिए मिट गयी और वर्तमान में इसके नाम पर घोटाला हो गया. अगर गंगा नही संभाली गयी तो यह चीन में चली जायेगी.

गंगा पर परियोजना बने लेकिन उसमें प्रवाह हो, नांद हो, तभी उसका संरक्षण होगा. आज गंगा नहाने लायक नही है. कभी डाक से गंगा का पानी मो तुगलक के पास जाता था. कभी गंगा पवित्र्तता के लिए जानी जाती थी आज वह नहाने लायक नही है.

उन्होंने धर्मांतरण को रोकने की जरूरत जताई. नागालैंड, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश में जाकर हिन्दू धर्म का प्रचार हम नही कर रहे है. गंगा की दयनीय स्थिति पर विचार हो तब जाकर गंगा की पूजा करें.

पूर्व विधायक ज्ञान चंद्र मांझी ने चिरांद के लिए मंत्री से मुक्ति धाम की मांग की. वही एमएलसी से सड़क की मांग की. घाट, लाइट की मांग, पर्यटन स्थल बनाने, पर्यटन विभाग से गंगा आरती करने, पर्यटन भवन निर्माण, पहुंच पथ आदि की मांग की.

विधान पार्षद ई सच्चिदानंद राय ने रामायण सर्किट में अहिल्या मुक्ति स्थान रिविलगंज को शामिल करने की मांग की. वही जय प्रकाश विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो हरिकेश सिंह ने कहा कि सारण की आध्यात्मिक और राजनीतिक परिपथ को जोड़कर विकास का आधार रखी जा सकती है. इनके लिए सबो को प्रयास करने की जरूरत है. चिरांद में शोध संस्थान की मांग महेश शर्मा से करने की बात कही.

इस अवसर पर परिषद् के संरक्षक श्री श्री 108 नागा बाबा, अमनौर विधायक शत्रुघ्न तिवारी उर्फ चोकर बाबा, छपरा विधायक डॉ सीएन गुप्ता, रामदयाल शर्मा, राकेश कुमार सिंह, जयराम सिंह, कृष्णकांत ओझा, श्रीराम तिवारी समेत कई गणमान्य लोग उपस्थित थे.

इसके बाद काशी से आचार्य राजेश कौशिक के नेतृत्व में आए 27 बटुको ने गंगा महाआरती की. मां गंगा के किनारे हर हर महादेव शंभु काशी विश्वनाथ गंगे… का सुर और महाआरती का अलौकिक दृश्य श्रद्धालुओं को अद्भुत अहसास करा रही थी. भारी संख्या में श्रद्धालु महा आरती को देखने पहुंचे थे

गंगा महाआरती के आयोजन का इस साल 11 वर्ष पूरे होने पर इसे भव्य से भव्यतम रूप देने की कोशिश चिरांद विकास परिषद् ने की थी.

(Visited 313 times, 1 visits today)
Similar articles

Comments are closed.

error: Content is protected !!