हाथी-घोड़े और गाजे-बाजे के साथ निकली श्री सहस्त्रचण्डी महायज्ञ की भव्य कलशयात्रा सह शोभायात्रा

हाथी-घोड़े और गाजे-बाजे के साथ निकली श्री सहस्त्रचण्डी महायज्ञ की भव्य कलशयात्रा सह शोभायात्रा

Taraiya:  प्रखण्ड के अरदेवा-जिमदाहा गांव स्थित नारायणी तट के किनारे श्री नारद बाबा के आश्रम पर शनिवार से प्रारंभ नव दिवसीय श्री सहस्त्रचण्डी महायज्ञ को लेकर भव्य कलशयात्रा सह शोभायात्रा निकाली गई। रंग-बिरंगे परिधान में 25 सौ कलश के साथ शामिल महिलाएं व युवतियां की टोली यज्ञस्थल से सुबह 7 बजे कलश लेकर निकली जो नारद बाबा के कुटिया के समीप स्थित नारायणी नदी घाट से यज्ञाधीश श्री बुद्धि सागर मिश्र एवं आचार्य मुन्ना चौबे, दीपक चौबे व दीपू चौबे के संयुक्त वैदिक मंत्रोच्चार के बीच पवित्र जलभरी की गई।

तत्पश्चात सभी श्रद्धालु-भक्तों ने संत शिरोमणि श्री नारद बाबा जी महाराज का दर्शन किया और कलश के साथ अरदेवा-जिमदाहा गांव का परिभ्रमण करते हुए पुनः कलशयात्रा यज्ञ स्थल पर पहुंची। जहां मुख्य यज्ञाध्यक्ष व आचार्यों ने वैदिक विधि से विधिवात पूजा-अर्चना कराया। वही यज्ञ में शामिल सभी श्रद्धालु-भक्तों के लिए यज्ञस्थल पर प्रतिदिन महा-भंडारे का आयोजन किया गया है।

जिसमें प्रथम दिन जिमदाहा गांव निवासी रामचंद्र तिवारी द्वारा श्रद्धालु-भक्तों के लिए प्रथम दिन के भंडारे की व्यवस्था की गई थी। यज्ञ में मुख्य यजमान के रूप में पंकज बाबा, एवं प्रतीक प्रकाश उर्फ रिशु सपत्निक, अमलेश कुमार सिंह सपत्निक, ओम मिश्रा सपत्निक, शामिल हुए।

यज्ञ में मुख्य रूप से कार्यकारी अध्यक्ष हरि शंकर सिंह, उपाध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह, सचिव धनवीर कुमार सिंह विक्कू, धनंजय कुमार सिंह भीम, अमरनाथ सिंह, कोषाध्यक्ष विकास सिंह, कपूर सिंह, डीएन सिंह, शेखर सिंह, रौशन कुमार प्रेम, उपेंद्र सिंह, मंटू सिंह, डॉ रंजय कुमार सिंह, मिथिलेश सिंह, आशीष राज सिंह उर्फ छोटू, छोटू बाबा, मनीष सिंह, उपेंद्र सिंह, हजारों की संख्या में श्रद्धालु भक्त कलशयात्रा सह शोभायात्रा में शामिल थे।

0Shares
A valid URL was not provided.