सब्जी मंडी, बस स्टैंड व भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर रैपिड कीट से किया जायेगा जांच

सब्जी मंडी, बस स्टैंड व भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर रैपिड कीट से किया जायेगा जांच

Chhapra: कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए जिला प्रशासन सजग व सतर्क है। इसको लेकर प्रशासन के स्तर पर लगातार प्रयास किया जा रहा है।

मंगलवार को जिलाधिकारी डॉ. नीलेश रामचंद्र देवरे व पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने समाहरणालय सभागार में संयुक्त प्रेस वार्ता की। इस दौरान जिलाधिकारी डॉ. नीलेश रामचंद्र देवरे ने कहा कि संक्रमण के रोक-थाम के लिए टीकाकरण अभियान व जांच में तेजी लाने की जरूरत है। शहर में टीकाकरण केंद्रों की संख्या में बढोतरी की जायेगी। ताकि शहरी आबादी के अधिक से अधिक लोगो का टीकाकरण किया जा सके। डीएम ने कहा जिले में प्रतिदिन 20 हजार से अधिक लोगों को टीका लगाया जा रहा है। 105 केंद्रों पर टीकाकरण का कार्य चल रहा है। शहरी क्षेत्रो में और टीकाकरण केंद्र बनाये जायेंगे इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है। इसको लेकर सोनपुर एवं छपरा शहर के नगर निगम के पदाधिकारियों एव एसडीओ का निर्देश दिया गया है कि पार्षदों के साथ बैठक कर टीकाकरण केंद्रों की संख्या में बढोतरी के लिए चर्चा करें।

सब्जी मंडी, बस स्टैंड व भीड़-भाड़ वाले जगहो पर होगा जांच:

जिलाधिकारी डॉ. नीलेश रामचंद्र देवरे ने कहा कि जिले में प्रतिदिन 1200 आरटीपीसीआर जांच किया जा रहा है। रैपिड एंटीजन कीट के माध्यम से जांच में तेजी लायी जायेगी। सब्जी मंडी, बस स्टैंड व भीड़ भाड़ वाले जगहों पर रैपिड एंटिजन कीट के माध्यम से जांच की जायेगी। इसके साथ ट्रेन से आने वाले सभी व्यक्तियों की जांच रेलवे स्टेशन पर ही की जायेगी। परिणाम के आधार पर आवश्यकता अनुसार क्वारेंटाइन किया जायेगा।

जितनी अधिक जांच होगी, कोरोना संक्रमण के मामलों का पता चलेगा। सभी लोगों को कोरोना को लेकर अलर्ट रहने की जरूरत है, लोग सचेत रहेंगे तो कम से कम नुकसान होगा। सार्वजनिक आयोजनों में सीमित संख्या में ही लोग शामिल हों और कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करें। धार्मिक स्थलों, भीड़भाड़ वाले स्थानों पर लोग विशेष सतर्कता बरतें। उन्होंने कहा कि कोविड -19 टीकाकरण तेजी से कराएं। सेकंड स्टेज के टीकाकरण के लिए भी लोगों को अलर्ट करते रहें ।

जिले में 26 माइक्रो कंटेनमेंट जोन है एक्टिव:

जिलाधिकारी डॉ. नीलेश रामचंद्र देवरे ने बताया कि जिले में अभी 26 माइक्रो कंटेनमेंट जोन एक्टिव है। अभी तक 83 कोरोना के पॉजिटिव मरीज है। जिसमें 80 होम आईसोलेशन में तथा 1 कोविड केयर सेंटर एंव 2 पीएमसीएच पटना में भर्ती है। जिलाधिकारी ने बताया कि सबसे अधिक पॉजिटिव केस सोनपुर और छपरा शहर में पाये गये है। इन दोनों जगहों पर टीकाकरण व जांच में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। माइक्रो कंटेनमेंट जोन में नियमों का कड़ाई से पालन करना अनिवार्य है। इसको लेकर माइकिंग के माध्यम से लोगो को जागरूक किया जायेगा। नियमों का पालन नही करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।

प्रखंड स्तर पर बनाया जायेगा क्वारेंटाइन सेंटर:

जिलाधिकारी डॉ. नीलेश रामचंद्र देवरे ने कहा कि दूसरे राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से फैल रहे हैं। उन राज्यों से जिले के लोगों के वापस आने की संभावना है इसे ध्यान में रखते हुए प्रखण्ड स्तर पर क्वारंटाइन सेंटर की व्यवस्था की जायेगी। जिन क्षेत्रों में कोरेना के मामले हैं, वहां कन्टेनमेंट जोन बना कर नियमों का कड़ाई से पालन कराया जा रहा है। डीएम ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के प्रति स कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करें। सभी लोग मास्क का प्रयोग करें आप बनाकर रखें एवं हमेशा हाथ धोते रहें।

मास्क चेंकिंग अभियान पर विशेष जोर:
जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने बताया कि जिले के सभी एसडीपीओ, एसडीओ, बीडीओ, सीओ व थानाध्यक्षों को निर्देश दिया गया है कि अपने-अपने क्षेत्रों में मास्क नहीं पहनने वाले खिलाफ अभियान तेज करें। बिना मास्क के पकड़े जाने वालों से जुर्माना की वसूली की जाये। जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में मास्क नहीं पहनने वालों से मार्च माह से अब तक 2 लाख रूपये का जुर्माना वसूला गया है। लोगों को नियमो का पालन करना जरूरी है।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें