पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ ने राष्ट्रीय विरोध दिवस मनाकर केन्द्र सरकार को चेताया

पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ ने राष्ट्रीय विरोध दिवस मनाकर केन्द्र सरकार को चेताया

Chhapra: केन्द्र सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों के विरोध में एनएफआईआर के आह्वान पर भारतीय रेलवे एवं उत्पादन ईकाइयों के रेल कर्मचारी आज अपना राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ द्वारा पूर्वोत्तर रेलवे स्तर पर एनएफआईआर के आह्वान पर प्रत्येक जगह मोदी सरकार की नीतियों के ख़िलाफ़ राष्ट्रीय विरोध दिवस मना रहा है.

छपरा में पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ के वाराणसी के मण्डल अध्यक्ष ए एच अंसारी के नेतृत्व में रेल कर्मचारियों ने रैली निकालकर और नारेबाज़ी कर अपना विरोध प्रदर्शन सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करते हुए किया. जिसमें सभी विभागों के सैकड़ों रेल कर्मचारियों ने भाग लिया. बाद में कर्मचारियों को संबोधित करते हुए मंडल अध्यक्ष ए एच अंसारी ने बताया कि केंद्र सरकार की मज़दूर विरोधी दमनकारी नीतियों के ख़िलाफ़ रेल कर्मचारियों में आक्रोश है.

अंसारी ने कहा कि केन्द्र सरकार कर्मचारियों के अधिकारों की अनदेखी कर काॅरपोरेट जगत् को बढ़ावा दे रही है. रेलवे जैसे बड़े संगठन में नीजिकरण की भागीदारी बढ़ा रही है. प्रतिदिन लाखों रेलकर्मचारी अपनी जान को दाव पर लगाकर रेलवे की आमदनी बढ़ाने के लिए सेवा में लगे हैं. सेवा के दौरान रेलकर्मियों की जान भी चली जाती है. ऐसे में केंद्र सरकार की मज़दूर विरोधी नीतियों से कर्मचारियों की छटनी और अधिकारों में कटौती से कर्मचारियों में आक्रोश है.


ज्वलंत मुद्दों में श्रम कानून में बदलाव बंद करना, मँहगाई भत्ता/मँहगाई राहत की रोक वापस लेना, मज़दूर विरोधी नीति बंद करना, कोविड-19 के अंतर्गत 50 लाख का जीवन बीमा देना, न्यू पेंशन योजना बंद कर पुरानी पेंशन योजना चालू करना, रेलवे एवं उत्पादन इकाइयों का नीजिकरण, निगमीकरण एवं व्यावसायिकरण तुरंत बंद करना, मल्टी स्कीलिंग और पदों का विलय बंद करना, रनिंग कर्मचारियों को कोरोना अवधि का मुख्यालय नन रनिंग भत्ता एवं अवकाश भत्ता देना तथा सभी विभागों के रिक्त पदों को शीध्र भरना आदि को लेकर आज एनएफआईआर भारतीय रेल पर राष्ट्रीय विरोध दिवस मना रहा है. छपरा में पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ भी केन्द्र सरकार की कर्मचारी विरोधी इन नीतियों का पुरजोर विरोध करता है.

कर्मचारियों को सम्बोधित करनेवाले वालों में एस आर सहाय, प्रेम नाथ सिंह, प्रसून कुमार सिंह, एल के शर्मा, प्रशांत कुमार सिंह, विपिन कुमार दूबे, सुनील कुमार साह द्वितीय, दुखन राम, अशोक कुमार तृतीय, लहसू राम, श्रीनारायण यादव, आनंद कुमार, अनिल कुमार, सचिन कुमार, शेषनाथ, रविशंकर सिंह, मालती देवी, आर डी एस यादव , सुनील कुमार प्रथम, सुशील कुमार श्रीवास्तव, संतोष कुमार आदि कई कर्मचारी नेता शामिल हुए.NEएनई

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें