स्वास्थ्य कार्यकर्ता, फील्ड वर्कर एवं 60+ गंभीर रोग से ग्रसित व्यक्तियों को टीका का प्रीकॉशनरी डोज

स्वास्थ्य कार्यकर्ता, फील्ड वर्कर एवं 60+ गंभीर रोग से ग्रसित व्यक्तियों को टीका का प्रीकॉशनरी डोज

– सभी प्रखंड मुख्यालय स्थित पीएचसी व सीएचसी में बनाया गया है टीकाकरण केंद्र

Chhapra: सोमवार से जिले में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस बचाव के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ता, फील्ड वर्कर एवं 60 प्लस गंभीर रोग से ग्रसित व्यक्तियों को टीका की प्रीकॉशनरी डोज दी जाएगी। टीकाकरण के लिए सभी प्रखंड मुख्यालय स्थित पीएचसी व सीएचसी में सत्र स्थल बनाया गया है। टीकाकरण केंद्र पर टीका की दोनों खुराक लिए जाने के 9 माह के उपरांत ही प्रीकॉशनरी डोज दी जाएगी। जिनके ड्यू होने की सूचना उनके पंजीकृत मोबाइल पर एस.एम.एस. कोविन पोर्टल के माध्यम से प्राप्त होगी। इसके लिए उक्त लाभार्थी को नियोक्ता का साक्ष्य प्रस्तुत करना अनिवार्य है। उन्होंने बताया प्रथम दिन 90% लोगों का टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है। 2 दिनों में 10 एवं 11 जनवरी को शत प्रतिशत स्वास्थ्य कार्यकर्ता व फील्ड कार्यकर्ता को प्रतिरक्षित करने का लक्ष्य रखा गया है।

किन लोगों को दी जाएगी प्रीकॉशन डोज

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार हेल्थकेयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और गंभीर बीमारियों से जूझ रहे 60 साल से ऊपर के बुजुर्ग प्रीकॉशन डोज के लिए पात्र होंगे । इसके अलावा, ये डोज दूसरी डोज के 9 महीने बाद यानी दूसरी खुराक देने की तारीख से 39 सप्ताह पर दी जाएगी। इसके अलावा, गाइडलाइन के अनुसार प्रीकॉशनरी डोज के लिए पात्र होने पर लाभार्थियों को कोविन से एक टेक्स्ट मैसेज भेजा जाएगा। ताकि पता चल सके कि उन्हें वैक्सीन की तीसरी खुराक लेनी है। 60 साल से अधिक आयु के लाभार्थियों को “प्रीकॉशनरी डोज” दी जाएगी। अगर व्यक्ति किसी बीमारी से ग्रसित है एवं चिकित्सक द्वारा उन्हें कोविड-19 का प्रीकॉशनरी डोज लेने का सुझाव दिया गया है वैसे लाभार्थी द्वारा टीकाकर्मी को किसी प्रकार के प्रमाण पत्र की प्रस्तुत करने की आवश्यकता नहीं है।

कोविन पोर्टल पर करना होगा स्लॉट बुक

लाभार्थी कोविन प्लेटफॉर्म पर वैक्सीनेशन स्लॉट बुक कर सकेंगे। इसके अलावा, गाइडलाइन्स के अनुसार खुराक लेने के लिए टीकाकरण केंद्र में ऑन स्पॉट भी स्लॉट बुक कर टीकाकरण करवाया जा सकेगा।

मिलेगा प्रीकॉशन डोज का सर्टिफिकेट 

पात्र लाभार्थियों को प्रीकॉशन डोज मिल जाने के बाद एक सर्टिफिकेट जारी किया जाएगा। जिस तरह पहली और दूसरी डोज लगने पर सर्टिफिकेट मिला था। उसी तरह प्रीकॉशन डोज लगने के बाद भी सर्टिफिकेट जारी किया जाएगा।

– मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
– नियमित तौर पर लगातार साबुन या अल्कोहल युक्त पदार्थों से अच्छी तरह हाथ धोएं।
– बारी आने पर निश्चित रूप से वैक्सीनेशन कराएं और दूसरों को भी प्रेरित करें।
– लक्षण महसूस होने पर कोविड-19 जाँच कराएं।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें