मुस्लिम बैलेंस वोट नही बल्कि बेस वोट है: अख़्तर नेहाल

मुस्लिम बैलेंस वोट नही बल्कि बेस वोट है: अख़्तर नेहाल

Chhapra: आगामी 19 जनवरी को पटना में आयोजित अब्दुल कयूम अंसारी के जयंती समारोह पर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अल्पसंख्यक इकाई द्वारा मुस्लिम बेदारी कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जा रहा है.

कॉन्फ्रेंस के आमंत्रण को लेकर बुधवार को आरएलएसपी के नेता छपरा पहुंचे. इस दौरान प्रदेश उपाध्यक्ष अख़्तर नेहाल ने कहा कि आगामी 19 जनवरी को अब्दुल कयूम अंसारी के जयंती के अवसर पर मुस्लिम बेदारी कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जा रहा है. जिसमे राज्य भर के मुस्लिम समुदाय के लोग अधिकाधिक संख्या में भाग लेंगे.

उन्होंने कहा कि अब्दुल कयूम अंसारी ने मुस्लिमों के उत्थान को लेकर कई बार आवाज़ उठाई, जेल गए. वह दबे और कमजोर लोगो के लिए मसीहा थे. उनकी जयंती समारोह का आयोजन करना आरएलएसपी के लिए गर्व की बात है.

श्री अहमद ने बताया कि सबसे बद्दतर स्थिति मुसलमानों की है. मुसलमान को सिर्फ वोट बैंक के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है जबकि वह बेस वोट की तरह है बैलेंस वोट की तरह नही.मुसलमानों में शिक्षा का स्तर काफी नीचे है. सूबे में मदरसा का हाल खस्ता है, उर्दू के शिक्षकों की बहाली अधर में है.

उन्होंने कहा कि सूबे में वक़्फ़ की जमीनों पर नाजायज कब्जा किया जा रहा है. जिससे मुसलमान ठोकर खा रहे है. सरकार मुसलमानों को वक़्फ़ की ज़मीन उनके हवाले करें. देश को विभिन्न मुद्दों पर बाटने की साज़िश हो रही है जिसे रालोसपा कभी कामयाब होने नही देगा.

इस मौक़े पर मो मुश्ताक़ अहमद, रियाजुद्दीन सिद्दीकी, शौक़त अली अंसारी, मनोज कुमार, जिलाध्यक्ष अशोक कुशवाहा, महिला प्रकोष्ठ की शोभा देवी उपस्थित थी.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.