प्रेरक: 25 वर्षों से विविध विषयों की जानकारियां संकलित कर छपरा के राजेश ने तैयार की शोध सामग्री

प्रेरक: 25 वर्षों से विविध विषयों की जानकारियां संकलित कर छपरा के राजेश ने तैयार की शोध सामग्री

Chhapra: अपने संकलन के माध्यम से छात्रों के लिये शोध की कई आवश्यक सामग्रियां छपरा शहर के काशीबाजार के रहने वाले राजेश कुमार सिंह ने तैयार की हैं. राजेश पिछले 25 वर्षों से अखबार के कतरनों का संकलन तैयार कर रहे हैं. वहीं हाल ही में उन्होंने सामान्य अध्ययन का तथ्यात्मक संकलन कर प्रारंभिक कक्षा से लेकर उच्च कक्षाओं तक में अध्ययनरत छात्रों के लिये एक पुस्तक भी तैयार की है. जिसका प्रकाशन जल्द ही होने वाला है.

विदित हो कि अपने संकलन के माध्यम से इन्होंने साहित्य, संस्कृति, खेल, राजनीति आदि विविध विषयों पर एक समृद्ध लाइब्रेरी भी बनायी है. शोध से जुड़े छात्रों के लिये इनके लाइब्रेरी में वह सभी जानकारियां उपलब्ध हैं जो कई बार इंटरनेट पर भी ढूंढने से नहीं मिल पाती. अपनी लाइब्रेरी में पिछले दो दशक से भारतीय राजनीति से जुड़े समाचारों, गतिविधियों, राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था, प्रमुख घटनाक्रम, ओलंपिक में भारत आदि विषयों की सामग्री व तसवीरों को अखबार से संकलित कर शामिल किया है.

कोरोना चित्रावली व बिहार धरोहर पर भी किया है काम
राजेश ने बीते दो वर्षों में कोरोना के प्रभाव को दर्शाती अखबार की खबरों को एकत्रित कर एक समृद्धि शोध मटेरियल इकट्ठा किया है. इसमें देश-विदेश के अंतरराष्ट्रीय अखबारों समेत स्थानीय स्तर के समाचार पत्र व पत्रिकाओं का कलेक्शन शामिल है. इसमें कोरोना के प्रारंभिक दौर से लेकर अब तक के घटनाक्रम दर्शाये गये हैं. वहीं बिहार के धरोहरों को लेकर भी उन्होंने अखबार की कतरनों को इकट्ठा किया है. जिसमें बिहार में बड़े आयोजनों से लेकर यहां की संस्कृति व सभ्यता को दर्शाती खबरें एक फोल्डर में रखी गयी हैं. राजेश भारतीय विज्ञान कांग्रेस व भारतीय इतिहास कांग्रेस से जुड़कर अपने संकलन को और समृद्ध बनाने की लिये भी कार्य कर रहे हैं.

स्थानीय विश्वविद्यालय के छात्र मांगते हैं जानकारी
सोशल मीडिया पर राजेश के साथ कई शोध छात्र-छात्राएं जुड़े हैं. महत्वपूर्ण विषयों पर संकलित की गयी सामग्री को यह शोध छात्रों को उपलब्ध कराते हैं. इनकी लाइब्रेरी घर पर ही है. स्थानीय विश्वविद्यालय के छात्र भी कई बार इनकी लाइब्रेरी देखनी आते हैं और जानकारीयां इकट्ठा करते हैं. राजेश ने 1995 से अखबार के कतरनों से उपयोगी संकलन तैयार करना शुरू किया. वह जिले के एकमा प्रखंड स्थित अलखनारायण सिंह उच्च विद्यालय में लाइब्रेरियन पद पर कार्यरत हैं. वर्ष 2018 में बिहार के प्लानर का प्रजेंटेशन त्रिपुरा विश्वविद्यालय में जाकर करने वाले के राज्य के एकमात्र स्कूल लाइब्रेरियन हैं.

साभार: प्रभात किरण हिमांशु 

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें