धनतेरस पर सजा बाजार, कोरोना में मंदी के बाद बाजार हुए गुलज़ार, बाजारों में दिख सकता है कोरोना का आर्थिक संकट

धनतेरस पर सजा बाजार, कोरोना में मंदी के बाद बाजार हुए गुलज़ार, बाजारों में दिख सकता है कोरोना का आर्थिक संकट

Chhapra: धनतेरस को लेकर शहर से गांव तक के बाजार सज चुके है. दुकान पर आने वाले ग्राहकों के लिए रंगबिरंगी रौशनी के साथ खरीददारी पर आकर्षक छूट के साथ उपहार भी रखे गए है.

कोरोना काल के बार हुई मंदी के बाद धनतेरस पर बाजारों में रौनक है. जिससे बाजार में उछाल पर रहने के आसार दिख रहे है. हालांकि इस कोरोना की आर्थिक मंदी के कारण बड़ी बड़ी खरीदारियों में कमी आंकी जा रही है. एक अनुमान के मुताबिक विगत वर्ष के अनुपात में इस वर्ष बाजार में कम बिक्री होने के आसार है. दुकानदारों द्वारा भी आर्थिक स्थिति को देखकर लिमिट में ही समानों को बाहर से मंगाया गया है.

धनतेरस पर स्वर्ण बाज़ार, बर्तन बाजार, इलेक्ट्रॉनिक्स मार्केट के साथ साथ मोबाइल दुकान पूरी तरह से सजे है. धनतेरस पर बर्तनों के साथ साथ स्वर्ण आभूषणों की खरीददारी की परंपरा है. ऐसे में विगत कुछ वर्षों से झाड़ू की खरीददारी पर भी लोगो ने ज्यादा जोड़ दिया है.

विगत वर्षों की बात करे तो छपरा के शहरी एवं ग्रामीण इलाकों में सिर्फ 50 लाख से अधिक के झाड़ू का कारोबार धनतेरस पर हुआ था. वही स्वर्ण एवं बर्तन बाजार में 10 करोड़ से अधिक के सामानों की बिक्री हुई थी. इसके अलावे 5 करोड़ के करीब मोबाइल और अन्य इलेक्ट्रॉनिक्स समानों की बिक्री हुई थी. लेकिन इसबार कोरोना का असर बाजारों में देखने को मिलेगा.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें