श्रम संसाधन विभाग द्वारा मनाया गया श्रम अधिकार दिवस, श्रमिकों को सरकारी योजना की दी गयी जानकारी

श्रम संसाधन विभाग द्वारा मनाया गया श्रम अधिकार दिवस, श्रमिकों को सरकारी योजना की दी गयी जानकारी

  • सीएसपी के बहकावे में न आये, पदाधिकारी से मिले, निबंधन कराए और योजनाओं का लाभ पाए: श्रम अधीक्षक

Chhapra: श्रम संसाधन विभाग द्वारा स्थानीय चंद्रावती ऑडिटोरियम में श्रम अधिकार दिवस का आयोजन किया गया. कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन सहायक श्रम आयुक्त रत्ना प्रसाद, श्रम अधीक्षक रमेश कमल रत्नम ने दीप प्रज्ववलित कर किया.

श्रम अधिकार दिवस के अवसर पर एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें जिले के सभी पंचायतों से एक एक श्रमिको को उनके कार्यो की जानकारी दी गयी साथ ही साथ सरकारी योजनाओं का लाभ कैसे मिले इसकी पूर्ण जानकारी दी गयी.

अपने संबोधन में सहायक श्रम आयुक्त रत्ना प्रसाद ने कहा कि सरकार द्वारा कामगार मजदूर यानी श्रमिक के उत्थान को लेकर कई योजनाएं चलाई जा रही है. जिससे उनका एवं उनके परिवार का विकास हो सकें. जिले के सभी प्रखंड में श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी मौजूद है जिनसे संपर्क कर श्रमिक अपना निबंधन करा सकते है. जानकारी ले सकते है और सरकार द्वारा दी जा रही सहायता का लाभ ले सकते है.

वही श्रम अधीक्षक रमेश कमल रत्नम ने कहा कि भोजन, आवास और निर्माण यह समाज की मुख्य जरूरत है. जिनमे भोजन के लिए कृषक, आवास के लिए राजमिस्त्री, मजदूर तथा निर्माण के लिए कई तरह से श्रमिक अपना योगदान देते है. श्रम अधिकारी दिवस के अवसर पर जिले के सभी पंचायत से एक एक श्रमिक को यहां प्रशिक्षण दिया जा रहा है. चूंकि मजदूर कम पढ़े लिखे होते है, जिससे आपका दायित्व बनता है कि आप सभी यहां प्रशिक्षण लेकर अपने पंचायत के श्रमिकों को उनके अधिकार की जानकारी दे. जिससे कि वह सरकारी योजनाओं का लाभ ले सकें. प्रवासी कामगार को मृत्युपरांत 1 लाख रुपया, घायलावस्था सहित अन्य कारणों में सरकार श्रमिक के परिवार को लाभ देती है. सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत दुर्घटना या मृत्युपरांत, असाध्य रोग में एक लाख से 7 हजार तक सरकार अनुदान देती है.जो 18 से 65 वर्ष तक के श्रमिकों को दी जाती है. श्रम विभाग द्वारा महिला रेजा कामगार को विशेष प्रोत्साहन दिया जाता है. चिकित्सा, शिक्षा सभी तरह के लाभ दिए जा रहे है.

वही श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी द्वारा बाल श्रम,कुशल मजदूर, अति कुशल मजदूर, निबंधित मजदूर, असंगठित मजदूर, प्रवासी मजदूर दुर्घटना, भवन निर्माण, असांगठित कार्य क्षेत्र कामगार एवं शिल्पकार समाजिक सुरक्षा योजना, सहित अन्य सरकारी योजनाओं की जानकारी दी गयी. इस मौके पर जिले के सभी 10 श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी के साथ सैकड़ो की संख्या में श्रमिक मौजूद थे.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें