टीकाकरण को बढ़ावा देने को आईटीबीपी व स्वास्थ्य विभाग ने लगाया विशेष कैम्प

टीकाकरण को बढ़ावा देने को आईटीबीपी व स्वास्थ्य विभाग ने लगाया विशेष कैम्प

टीकाकरण अभियान में तेज़ी लाने के उद्देश्य से विशेष कैंप का आयोजन: कमांडेंट आईटीबीपी

•किसी तरह की जानकारी के लिए स्वास्थ्य केंद्र आयें

•आईटीबीपी के सहयोग से स्वास्थ्य विभाग ने चलाया टीकाकरण अभियान

Chhapra: कोरोना संक्रमण वायरस से बचाव के लिए जिले में शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा हैं। कोविड-19 टीकाकरण के लक्ष्य को शत-प्रतिशत पूरा करने के लिए ज़िला प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से लगा हुआ है। अब ज़िले के जलालपुर प्रखंड के कोठेयां गांव स्थित 6 वीं वाहिनी भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के द्वारा जलालपुर प्रखंड मुख्यालय स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के उद्देश्य से संयुक्त रूप से अभियान चलाया जा रहा है। टीकाकरण अभियान का विधिवत उद्घाटन आईटीबीपी 6 वीं बटालियन के कमांडेंट स्वानथांग, उप सेनानी सीएल चिरंजी लाल, चिकित्सा पदाधिकारी डॉ बिनोद कुमार सिंह, महिला चिकित्सा पदाधिकारी डॉ प्रभदीप, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जलालपुर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ सुभाष तिवारी, बीएचएम अजित कुमार, आईटीबीपी के लैब टेक्नीशियन मनोज कुमार दास एवं फार्मासिस्ट कैलाश सहित स्वास्थ्य विभाग के कई अन्य कर्मी उपस्थित थे।

टीकाकरण अभियान में तेज़ी लाने के उद्देश्य से विशेष कैंप का किया गया आयोजन: कमांडेंट आईटीबीपी

आईटीबीपी 6 वीं बटालियन के कमांडेंट स्वानथांग ने बताया आईटीबीपी के क्षेत्रीय मुख्यालय पटना के उप-महानिरीक्षक संजीव कुमार सिंह ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय से मिलकर छपरा में आईटीबीपी के सहयोग से कोविड-19 टीकाकरण अभियान में तेज़ी लाने के उद्देश्य से विशेष कैंप आयोजित करने के लिए अनुमति मांगी थी। जिसके बाद सिविल सर्जन द्वारा इसकी अनुमति दी गई थी। जिसके आलोक में जलालपुर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 18 आयुवर्ष से लेकर 60 वर्ष या इससे अधिक उम्र के नागरिकों को कोरोना से बचाव के लिए टीकाकृत किया जा रहा है। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए घर से निकलते समय अपने मुंह पर मास्क लगाने या किसी से मिलने के समय भीड़ भाड़ वाले इलाके में जाने से बचें और ज्यादा जरूरत होने के बाद सामाजिक दूरी का पालन करते हुए अपने कार्यो का निष्पादन करें।

किसी तरह का शंका या जानकारी लेने के लिए स्वास्थ्य केंद्र आये: डॉ प्रभदीप

आईटीबीपी की ओर से महिला चिकित्सक डॉ प्रभदीप ने बताया पहला डोज़ लेने के बाद दूसरे डोज़ की समयावधि 84 दिनों की होती लेकिन अगर किसी को इस बीच पढ़ाई या भ्रमण करने के लिए किसी अन्य राज्य या विदेश जाना है तो उसके लिए भी स्वास्थ्य विभाग तैयार है। इसके लिए आपको ज़िले के सिविल सर्जन या ज़िला प्रतिरक्षण पदाधिकारी से मिलकर अपने दस्तावेज जिसमें पासपोर्ट एवं बीजा की कॉपी के साथ प्रथम डोज का प्रमाण पत्र देना होगा। उसके बाद आपको दूसरा डोज लेने के लिए प्राधिकृत किया जाएगा। किसी भी तरह से कोई शिकायत या जानकारी नहीं है तो उसे आप अपने नजदीक स्वास्थ्य केन्द्र जाकर उसका समाधान करा लें। लेकिन पहला डोज लेने के बाद दूसरा डोज लेना नहीं भूलें।

आईटीबीपी के सहयोग से स्वास्थ्य विभाग ने चलाया टीकाकरण अभियान: एमओआईसी

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ सुभाष तिवारी ने बताया कोठेयां गांव स्थित आईटीबीपी के सहयोग से सीएचसी जलालपुर में टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है हैं। स्थानीय लोग आराम से लाइन में खड़े होकर अपना पहला या दूसरा डोज़ लगवा रहे हैं। ज़िला मुख्यालय से कोविशील्ड की वैक्सीन उपलब्ध करायी गई है। 18 आयुवर्ष से लेकर वरिष्ठ नागरिक तक के लोगों को टीकाकरण किया जा रहा है। शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा करने के उद्देश्य से प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साथ ही सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों के बीच जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। क्योंकि कोविड-19 से बचाव एवं सुरक्षा के लिहाज़ से यही एक मात्र साधन है। इसके साथ ही नियमित रूप से हर आधा घण्टे पर अपने हाथों को रगड़-रगड़ कर अनिवार्य रूप से धोते रहना है।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें