अब कोविड-19 के बिना लक्षण वाले मरीजों को ही होम आइसोलेशन में रखा जाएगा: स्वास्थ्य विभाग

अब कोविड-19 के बिना लक्षण वाले मरीजों को ही होम आइसोलेशन में रखा जाएगा: स्वास्थ्य विभाग

• घर पर ही पहुंचाई जाएगी जरूरी दवाईयां
• गंभीर बीमारी से ग्रसित व्यक्तियों को होम आइसोलेशन में नहीं रखा जाएगा
• स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने सभी डीएम और सीएस को जारी किया दिशा निर्देश

Chhapra: कोरोनावायरस के संक्रमण को प्रसार को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से हर रोज नए नए फैसले लिए जा रहे हैं ताकि कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके। अब स्वास्थ्य विभाग ने एक और अहम फैसला लिया है। अब सिर्फ बिना लक्षण वाले कोविड-19 के मरीजों को ही होम आइसोलेशन में रखा जाएगा। इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव उदय सिंह कुमावत ने जिलाधिकारी व सिविल सर्जन को पत्र लिखकर आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। जारी पत्र में बताया गया है कि किसी कोरोना पॉजिटिव को होम क्वॉरेंटाइन अथवा आइसोलेशन सेंटर में रखे जाने के लिए जिला पदाधिकारी को प्राधिकृत किया जाता है । संबंधित व्यक्ति को यह सुविधा तभी प्रदान की जाएगी जब उन्हें घर पर सेल्फ आइसोलेशन एवं अन्य परिवारिक संपर्क को क्वॉरेंटाइन करने की आवश्यक सुविधा उपलब्ध हो होम आइसोलेशन में रहने के दौरान इन्हें नियमित रूप से अपने स्वास्थ्य का अनुश्रवण करना होगा। कोविड-19 से संबंधित किसी भी प्रकार का लक्षण आने पर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करना होगा। ताकि उनके समुचित इलाज की व्यवस्था की जा सके।

गंभीर बीमारियों से ग्रसित व्यक्तियों को नहीं रखा जाएगा होम आइसोलेशन में

जारी पत्र में निर्देश दिया गया है कि होम आइसोलेशन में मात्र बिना लक्षण वाले मरीजों को ही रखा जाएगा. वैसे व्यक्ति जिनके पास होम आइसोलेशन की सुविधा उपलब्ध नहीं हो, जिनका को-मॉर्बिड कंडीशन हो अथार्त वैसे किसी अन्य गंभीर बीमारी जैसे- मधुमेह, हृदय रोग, उच्च रक्तचाप जैसे ग्रसित हो, उन्हें भी होम आइसोलेशन में नहीं रखा जाएगा।

घर-घर जाकर दी जाएगी दवा

होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा घर-घर जाकर दवा दी जाएगी। स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा आवश्यक दवाओं का एक कीट दिया जाएगा, जिसमें एजिथ्रोमायसीन टेबलेट 10, पैरासिटामोल टेबलेट 10, विटामिन B12 टेबलेट 10, विटामिन सी टेबलेट 10, कपड़ों से निर्मित 2 मास्क तथा इसके उपयोग की विधि के साथ प्रत्येक मरीजों को उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए जिला स्तर पर प्रत्येक मरीज के लिए एक किट तैयार की जाएगी जिसमें उपर्युक्त दवाओं सहित दवाओं के प्रयोग की विधि भी एक पर्ची में शामिल की जाएगी, ताकि मरीजों को असुविधा ना हो।

घर पर चस्पाया जाएगा पोस्टर

होम आइसोलेशन में रहने वाले कोविड-19 के बिना लक्षण वाले मरीजों के घरों पर आशा कार्यकर्ता द्वारा ग्री भ्रमण कर होम आइसोलेशन का पोस्टर चिपकाया जाएगा। साथ ही मरीजों के स्वास्थ्य की जानकारी लेते हुए होम आइसोलेशन के दौरान “क्या करें क्या ना करें” के संदर्भ में जानकारी भी दी जाएगी। इसके साथ-साथ आशा कार्यकर्ता द्वारा मरीज व उसके परिजन को टेलीमेडिसिन अथार्त आवश्यकता अनुसार घर बैठे 8010111213 पर मिस्ड कॉल देकर अपने स्वास्थ संबंधित चिकित्सकीय सलाह प्राप्त करने के लिए जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। टोल फ्री नंबर 102 पर कॉल कर एंबुलेंस की सुविधा प्राप्त करने, टोल फ्री नंबर 104 पर कॉल कर चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त करने की भी जानकारी मरीजों को उपलब्ध कराई जाएगी।

चिकित्सक करेंगे स्वास्थ्य का अनुश्रवण

होम क्वारेंटाइन में रहने वाले मरीजों की सूची के अनुसार आशा कार्यकर्ताओं द्वारा सामग्रियां उपलब्ध कराई जाएगी। बिना लक्षण वाले मरीज जो होम आइसोलेशन में रह रहे हैं उनके स्वास्थ्य देखभाल के लिए प्रतिदिन संबंधित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर पदस्थापित चिकित्सकों द्वारा दूरभाष के माध्यम से अनुश्रवण कराया जाएगा। साथ ही आवश्यकता अनुसार चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें