Apr 27, 2018 - Fri
Chhapra, India
25°C
Wind 4 m/s, E
Humidity 65%
Pressure 754.56 mmHg

27 Apr 2018      

Home आपका शहर

छपरा: अपने नेक इरादों और मेहनत के बलबूते सारण के लाल ने लेफ्टिनेंट बनकर जिले का नाम रौशन किया है. जिले के एकमा नगर पंचायत स्थित भरहोपुर गांव के महज 22 साल का युवक साकेत सौरभ इंडियन आर्मी की कठिन ट्रेनिंग पास कर लेफ्टिनेंट बन गया है.

चा साल की ट्रेनिंग को पूरा करने के बाद साकेत शनिवार को ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी, गया के स्टेडियम में हुए दीक्षांत पासिंग आउट परेड में कमीशंड होकर आर्मी का ऑफिसर बना. उसकी पोस्टिंग मैकेनाइज्ड इन्फेंट्री के एविएशन कोर में हुई है जिसमे वह सेना के हेलीकॉप्टर का पायलट बन उड़ान भर सकेगा.दीक्षांत पीओपी के चीफ गेस्ट अफगानिस्तान आर्मी के चीफ मो. शरीफ यखतली व इंडियन आर्मी सेंट्रल कमांड के चीफ लेफ्टिनेंट जनरल बी. एस. नेगी को कुल 166 जेंटलमैन कैडेट्सों के साथ कमीशंड हुए साकेत सौरभ ने भी दीक्षांत परेड में सलामी दिया.

भरहोपुर निवासी शिक्षक दम्पति मनोज सिंह व बबीता सिंह के प्रथम पुत्र साकेत सौरभ की प्रारंभिक शिक्षा गांव से ही हुई. इसके बाद 10 वी संत पाल हाई स्कूल हाजीपुर से करने के बाद 12 वी की पढ़ाई संत माइकल स्कूल पटना से पूरी किया. शुरू से ही सेना का अफसर बनने का लक्ष्य बनाए साकेत ने इसी दौरान इलाहाबाद से एसएसबी कंपीट कर आर्मी में टीईएस 30 बैच के लिए चयनित हुआ.

ओटीए गया व सिटीडब्लू सिंकन्दराबद में चार साल के आर्मी की कठिन ट्रेंनिग के साथ जेएनयू दिल्ली से बीटेक की पढ़ाई की जिसे वह कमीशनिंग के बाद पूरा करेगा.आर्मी में कमीशंड होकर ऑफिसर बनने पर साकेत ने खुशी का इजहार करते हुए कहा कि देश की रक्षा करने का उसका सपना पूरा हुआ है.

अब वह बहादुर सैनिकों को तकनीक प्रदान कर उनके साथ कंधे से कंधा मिलते हुए देश के दुश्मनों को उनके ठिकाने पर पहुंच उनको खत्म करके देश की रक्षा करेगा.साकेत ने अपनी इस कामयाबी के पीछे अपने मां- बाप के साथ खासकर मामा डॉ शशि कुमार व नाना जगतनारायण सिंह की प्रेरणा का होना बताया है.

परिजनों ने भी साकेत के लेफ्टिनेंट बनने पर गर्व महसूस करते हुए कहा कि देश की रक्षा करने का मौका हासिल होने से बड़ा और कोई दूसरा सम्मान नही हो सकता.

(Visited 2,733 times, 1 visits today)

Comments are closed.

error: Content is protected !!