किसान आंदोलन के समर्थन में 2 दिसंबर को पूरे देश में सड़कों पर उतरेंगे छात्र व युवा: AISF

किसान आंदोलन के समर्थन में 2 दिसंबर को पूरे देश में सड़कों पर उतरेंगे छात्र व युवा: AISF

Chhapra: किसान आंदोलन के समर्थन में पूरे देश में एक साथ छात्र-नौजवान सड़कों पर उतरेंगे। पिछले दिनों किसान आंदोलन पर बर्बर दमन के खिलाफ रोष व्यक्त करते हुए ऑल इण्डिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) एवं एआईवाईएफ ने राष्ट्रव्यापी आंदोलन छेड़ने का आह्वान किया है।

इस बाबत आज एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर एआईएसएफ के राज्य उपाध्यक्ष राहुल कुमार यादव ने कहा कि किसान आंदोलन के समर्थन में संगठन के राष्ट्रव्यापी आह्वान पर 02 दिसंबर को सारण जिले में भी आक्रोश मार्च निकाल पीएम मोदी का पुतला दहन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राजधानी दिल्ली जा रहे अन्नदाता किसानों को रोकने के लिए इस ठंड में वाटर कैनन, आँसू गैस एवं लाठीचार्ज करा मोदी सरकार किसानों के हौसलों को पस्त करना चाहती है। किसान का बेटा सीमा पर शहीद होने को विवश है तो किसान खेतों के बाद अब सड़कों पर दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं।कभी लाल बहादुर शास्त्री ने जय जवान-जय किसान का नारा दिया था। आज मोदी जी ने अपने चंद कारपोरेट मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए किसानों से बातचीत कर समस्याओं का समाधान निकालने के बजाय किसानों और जवानों को आमने सामने कर दिया है जो काफी दु:खद और शर्मनाक है।

राज्य-पार्षद अमित नयन ने कहा कि जीने के बुनियादी संसाधनों में से एक भोजन की व्यवस्था किसान करते हैं। उनको हीं सरकार किसान विरोधी नए तीन कृषि कानूनों के द्वारा अंबानी-अडानी के हाथों को मजबूत कर रही है किसानों के हाथों को कमजोर कर रही है। सरकार ने अभी तक किसानों से वार्ता के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया है ऐसे में किसानों का समर्थन करना छात्र-नौजवानों की ऐतिहासिक जिम्मेदारी बन जाती है।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें