बिहार बजट: पक्ष ने सराहा, विपक्ष ने खड़े किये सवाल

बिहार बजट: पक्ष ने सराहा, विपक्ष ने खड़े किये सवाल

Chhapra: बिहार विधानसभा में उपमुख्यमंत्री व सूबे के वित्त मंत्री तार किशोर प्रसाद ने वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट पेश किया. तार किशोर प्रसाद ने पहली बार बजट पेश किया गया. बजट का एक ओर जहाँ सत्ता पक्ष समर्थन कर रहा है और सराह रहा है वही दूसरी ओर विपक्ष इसपर सवाल खड़े कर रहा है.

भाजपा के जिलाध्यक्ष राम दयाल शर्मा ने कहा कि आत्मनिर्भर बिहार का बजट उत्कृष्ट बजट है. यह बिहार के नौजवानों को रोजगार देने वाला बजट है. बजट में नए रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए 200 करोड़ रूपए का अलग से प्रावधान किया गया हैं. बिहार को बेरोजगार मुक्त बनाने के लिए सरकार का एक ठोस कदम बेहतरीन बजट के लिए सरकार को बधाई. शहरी क्षेत्रों में जाम की समस्या से मुक्ति एवं सुधारू यातायात के संचालन हेतु आवश्यकतानुसार बाईपास अथवा पलाईओवर का निर्माण कराया जाएगा. इस योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2021-22 में पथ निर्माण विभाग द्वारा 200 करोड़ रूपये का व्यय किया जायेगा. सभी शहरों एवं महत्वपूर्ण नदी घाटों पर विद्युत शवदाह गृहों सहित मोक्षधाम का निर्माण कराया जाएगा. राज्य सरकार द्वारा शहरी गरीबों के लिए बहुमंजिला आवासन योजना के अंतर्गत शहर में रह रहे बेघर/भूमिहीन गरीब लोगों को बहुमंजिला भवन बना कर आवास उपलब्ध कराया जायेगा.

वही मढ़ौरा से राजद विधायक जितेन्द्र कुमार राय ने कहा कि सरकार की ओर से पेश किया गया बजट एक खोखला बजट है. जिसमें युवा और शिक्षकों ने काफी उम्मीद लगा कर रखी थी. उन सभी को यह सरकार ने धोखा देने का काम किया. पूरा बजट झूठ का पुलिंदा पेश किया गया है.

उन्होंने कहा कि बजट में पढ़ाई, कमाई, सिंचाई और दवाई का कहीं जिक्र नहीं है. उन्होंने कहा की बजट में सात निश्चय पार्ट 2 की बात की गई है. लेकिन एक इंडस्ट्री कारखाने की बात नहीं की गई. जूट मिल, चीनी मिल किसी का भी जिक्र नहीं हुआ. फूड प्रोसेसिंग यूनिट, मकई और मखाना इन सब चीजों का कहीं चर्चा नहीं किया गया है.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें