सारण में बने 109 क्वेरेंटीन कैम्प में 8243 लोगों को किया गया है आवासित: जिलाधिकारी

सारण में बने 109 क्वेरेंटीन कैम्प में 8243 लोगों को किया गया है आवासित: जिलाधिकारी

Chhapra: जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन द्वारा प्रैस रिलीज जारी कर बताया गया कि बाहर से आ रहे सारण जिला के 8243 लोगां को प्रखंडो में बनाये गये 109 क्वेरेंटीन कैम्प में रखा गया है. जबकि प्रखण्डों में कुल 129 क्वेरेंटीन कैम्प बनाये गये है जहाँ 16 हजार लोगों को आवासित किया जा सकता है. अभी तक बाहर से छः ट्रेने छपरा जं0 पर आयी है जिससे दो ट्रेन सूरत से, एक घटकेसर (तेलंगना) से, एक राजकोट से और दो पंजाब से आयी है. प्रतिदिन बिहार के दूसरे जिले से भी लोग बसों के द्वारा सारण लाये जा रहे हैं. सभी लोगों को प्रखंड क्वेरेंटीन कैम्प में रखने की व्यवस्था बनायी गयी है.

जिलाधिकारी ने बताया कि 8 मई को कोटा से 350 छात्र ट्रेन के माध्यम से आरा जिला आये जहाँ से उन्हें बस से छपरा लाया गया और उनके संबंधित प्रखंडों में स्वास्थ्य जाँच कराकर तथा उनसे स्वघोषण पत्र लेकर उन्हें उनके अभिभावक को सौंप दिया गया. जहाँ वे होम क्वेरेंटीन में रह रहे हैं. जिलाधिकारी के द्वारा बताया गया है कि क्वेरेंटीन कैम्प मे रह रहे प्रवासी श्रमिकों में से 341 लोंगो का सेम्पल कलेक्ट कर जाँच के लिए भेजा गया है. जिसमें 246 का रिपोर्ट निगेटिव आया है तथा दो लोगों का रिपोर्ट पोजीटिव आया है. अभी 93 लोगों का रिपोर्ट आना बाकी है. जिन लोगों का सेम्पल कलेक्ट कर जाँच के लिए भेजा गया था उसमें से गुजरात से 131, तेलगंना से 34, कर्नाटक से 31, केरल से 27, उत्तर प्रदेश से 26, पंजाब से 17, राजस्थान से 14, दिल्ली और प0 बंगाल से सात-सात, हरियाणा से 5, आन्ध्रप्रदेश, झारखंड, मध्यप्रदेश और छतीसगढ़ से चार-चार तथा उडि़सा से दो लोगों शामिल हैं. इस प्रकार जिला से अभी तक 1034 सेम्पल जाँच के लिए भेजा गया है. जिसमें 962 का रिपोर्ट प्राप्त है. जिसमें 950 निगेटिव तथा 12 पोजीटिव रिपोर्ट आया है. कुल 12 पोजीटिव व्यक्तियों में 10 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर वापस हो गये हैं. वर्तमान में जिला में केवल 2 मामलें ही पोजीटिव रह गये हैं.

डीएम ने बताया कि प्रखंड क्वेरेंटीन में रह रहे प्रवासियों की दक्षता का सर्वेक्षण भी कराया जा रहा है. अभी तक 2773 प्रवासियों का सर्वेक्षण कराया गया है, जिसमें सबसे ज्यादा अकुशल श्रेणी (अनस्कील्ड) के 1321 व्यक्ति पाये गये है. जिलाधिकारी के द्वारा बताया गया है कि प्रखंड क्वेरेंटीन कैम्प मे ं14 दिना पूरा कर लेने के बाद लोगों को उनके घर भेजा जाएगा जहाँ वे पुनः 14 दिन होम क्वेरेंटीन में रहेंगे. दिघवारा प्रखंड के जयगोविंद सिंह उच्च विद्यालय क्वेरेंटीन कैम्प से बिटू कुमार सहित 6 लोगों को इसी क्रम में उनके घर भेजा गया है. ये सभी लोग 14 दिन का प्रखंड क्वेरेंटीन पूरा कर लिया था. प्रखंड क्वेरेंटीन से मुक्त होने वाले सभी लोगों का डेटाबेस रखने का निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया है.

उन्होंने कहा कि जिस ऐप के माध्यम से प्रवासियों का पंजीकरण कर एक हजार रुपये की राषि उनके खाते में डाली गयी थी उसी ऐप के माध्यम से इन लोगों के भी जो क्वेरेंटीन कैम्प से अपने घर जा रहे हैं न्यूनतम एक हजार रुपये के राशि उनके बैंक खाते में भेज दी जाएगी. जिलाधिकारी ने कहा कि विभागीय निर्देशानुसार गठित सभी कोषांग सफलतापूर्वक कार्यरत हैं. जिला आपातकालीन संचालन केन्द्र 06152-245023 पर 4864 कॉल, स्वास्थ्य विभाग सारण, छपरा के नियंत्रण कक्ष 06152-244812 पर 1471 कॉल, प्रखंड स्तरीय चिकित्सा केन्द्र पर स्थापित नियंत्रण कक्ष पर 16619 कॉल प्राप्त हुए हैं.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें