छपरा नगर निगम बोर्ड की बैठक में वार्ड पार्षदों ने उठाया सफाई का मुद्दा, बताया शहर में सफाई व्यवस्था ध्वस्त

छपरा नगर निगम बोर्ड की बैठक में वार्ड पार्षदों ने उठाया सफाई का मुद्दा, बताया शहर में सफाई व्यवस्था ध्वस्त

Chhapra: छपरा नगर निगम सभागार में मंगलवार को बोर्ड की बैठक का आयोजन किया गया. जिसकी अध्यक्षता मेयर प्रिया सिंह ने की. बैठक में सफाई का मुद्दा पार्षदों ने मुख्य रूप से उठाया. निगम पार्षदों नर शहर में सफाई व्यवस्था को पूरी तरह से लचर बताया और निगम अधिकारियों और सफाई कर्मियों पर व्यवस्था ध्वस्त करने का आरोप लगाया. निगम पार्षदों ने कहा कि छपरा शहर में साफ सफाई पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है न वार्ड में सफाई करने कोई आ रहा है और ना ही कचरे वाली गाड़ी वार्ड में कचरा उठाने आ रही है, वार्ड पार्षदों ने सिटी मैनेजर पर फोन नहीं उठाने का आरोप लगाया. वहीं वार्ड की पार्षद नीलू कुमारी ने कहा कि यदि वार्ड में सफाई व्यवस्था दुरुस्त नहीं हुई तो वह अनशन पर बैठ जाएंगी.

इस मौके पर सभी 45 वार्ड में निगम द्वारा कचरा उठाने के लिए ठेला देने की बात कही गई. वही 15 दिन में इसकी व्यवस्था करा दी जाएगी. बैठक में कई और फैसले लिए गए, इसके तहत शहर में नल जल योजना को जल्द पूरा करने, एलईडी लाइट लगाने, साफ सफाई के साथ-साथ कचरा उठाने के लिए छोटा जेसीबी मशीन खरीदने पर सहमति बनी. मेयर प्रिया सिंह ने बताया कि जो भी योजनाएं अधूरी है उन्हें पूरा करने का कार्य किया जा रहा है. निगम अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि शहर में बेहतर ढंग से काम करें और विकास की योजनाओं को जल्द से जल्द पूरा करे. मेयर ने कहा कि शौचालय योजना, आवास योजना सहित अन्य योजनाओं का चयन तेजी से हो तथा टैक्स कलेक्शन भी तेजी से किया जाए. इस मौके पर छपरा नगर निगम के तमाम पदाधिकारी समेत सशक्त स्थाई समिति के सदस्य मौजूद थे.


बागी पार्षदों ने बोर्ड की बैठक पर उठाए सवाल

छपरा नगर निगम के बागी पार्षदों ने मेयर के खिलाफ अभियान खोल दिया है, बोर्ड की बैठक को लेकर पार्षदों ने नगर आयुक्त को चिट्ठी लिखकर कहा है कि बोर्ड की बैठक बुलाना का कोई औचित्य नहीं है. पार्षदों ने लिखा है कि बीते 19 अगस्त को भी बोर्ड की बैठक बुलाई गई थी, फिर इतनी जल्दी बोर्ड की बैठक बुलाना समझ से परे है. पार्षदों ने कहा कि मेयर प्रिया सिंह ने अपना बहुमत खो दिया है, जिस पर मत की जुगाड़ में इतनी जल्दी-जल्दी बैठक बुलाई जा रही है. पार्षदों ने कहा कि पूर्व में इतने कम अंतराल में कभी बैठक नहीं बुलाई गई. बागी पार्षदों में मुख्य रुप से पूर्व डिप्टी मेयर अमितांजली सोनी, रंजना सिंह, अनिता देवी, विकास कुमार सैनी, मीरा देवी समेत कई पार्षद शामिल है.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें