अब Google भोजपुरी और मैथिली समेत 7 नई भारतीय भाषाओं में कर सकेगा अनुवाद

अब Google भोजपुरी और मैथिली समेत 7 नई भारतीय भाषाओं में कर सकेगा अनुवाद

भले ही भोजपुरी भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में अबतक शामिल नही हो सकी है पर इसकी लोकप्रियता से अब दुनिया भी अछूती नही है. गूगल के अनुसार भोजपुरी भाषा का करीब पांच करोड़ लोग इस्तेमाल करते हैं. जिसके कारण अब गूगल ने किसी भी भाषा से भोजपुरी में अनुवाद करने के लिए अपने गूगल ट्रांसलेट टूल्स में इसे स्थान दिया है. गूगल ने 7 भारतीय भाषाओं समेत 24 नए भाषाओं को सम्मिलित किया है.

अब ट्रांसलेशन टूल से विश्व के 157 भाषाओं में अनुवाद हो सकता है. पहले यह संख्या 133 थी.

भोजपुरी भारत के अलावा नेपाल और फिजी, मॉरीशस में भी बोली जाती है. बिहार के मिथिलांचल इलाके में बोली जाने वाली मैथिली करीब 3.8 करोड़ लोगों की मातृभाषा है उसे भी इस इस टूल में सम्मिलित किया गया है.

गूगल के द्वारा भोजपुरी को वैश्विक मान्यता देने की पहल पर बीआर अम्बेडकर बिहार विश्वविद्यालय के भोजपुरी विभागाध्यक्ष डॉ जयकांत सिंह जय कहतें हैं कि दुनिया इस भाषा के महत्व को सिद्ध कर रही है. विकिपीडिया, लैंग्वेज इंडेक्स के बाद अब गूगल ने भी इसकी लोकप्रियता और महत्व को समझा है. सरकार को चाहिए कि वे इसे संवैधानिक मान्यता दे.

वहीं जयप्रकाश विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग की पूर्व विभागाध्यक्ष व साहित्यकार उषा वर्मा ने कहा कि उन्होंने कहा कि दुनिया को समझ आ गयी है कि भोजपुरी को मान्यता मिलनी चाहिए. भोजपुरी को लोक बोली कहने वाले लोग अब इसके महत्व को समझेंगे ऐसा प्रतीत होता है. राजनीतिक कारणों और स्थिलता के कारण भी भोजपुरी को अबतक संवैधानिक मान्यता नही मिली पर अब जब विश्व इसे मान्यता दे रहा है, तो शायद लोगों की आंखें खुले. उन्होंने कहा कि भोजपुरी बेहद समृद्ध और समर्थ भाषा है गूगल के इस कदम की सराहना होनी चाहिए यह बेहद खुशी की बात है.

आपको बता दें गूगल ने अपने ट्रांसलेशन टूल में सात भारतीय भाषाओं के साथ 24 नई भाषाओं का जोड़ा है. इनमें भोजपुरी मैथिली, संस्कृत, असमिया, कोंकणी, मेइतेइलॉन (मणिपुरी) व मिजो शामिल हैं.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें