वो साल 2012 था जब हमने Chhapra Today नाम के फेसबुक पेज के ज़रिए आप तक ख़बरें पहुंचाने की एक छोटी की कोशिश की थी. मक़सद सिर्फ एक था कि क्यों ना छपरा और इस ज़िले के आसपास हो रही घटनाओं को एक माध्यम के ज़रिए उन लोगों तक पहुंचायाREAD MORE CLICK HERE

देश की आजादी में सारण की महत्वपूर्ण भूमिका रही है. कलम और बन्दूक दोनों के परस्पर सहभागिता ने आजाद भारत की नीव रखी. सारण की धरती पर एक ऐसे ही युगपुरुष का जन्म हुआ जिन्होंने अपनी लेखनी और बुद्धिमता के बल पर अंग्रेजों को नाको चने चबाने पर मजबूर कर दिया.READ MORE CLICK HERE

सारण जिले में केंद्र सरकार की ‘मिड डे मिल’ योजना तमाम अड़चनों के बाद भी गरीब और जरूरतमंद बच्चों के लिए दिन के भोजन का जरिया बन चूका है. सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले गरीबों के बच्चे जब स्कूल पढ़ने आते है तो उनकी आँखों में एक उम्मीद होती हैREAD MORE CLICK HERE

आप इसे शौक कहेंगे या नादानी. करतब कहें या बेवकूफी पर आज की युवा पीढ़ी मोटरबाइक को जिस रफ़्तार से चला रही है, उसे देख कर इतना जरूर कहा जा सकता है कि मोटर बाइक की रेस में युवा पीढ़ी अपनी जिंदगी के रेस में हारती नजर आ रही है.READ MORE CLICK HERE

छपरा: सारण में पंचायत चुनाव का बिगुल बज चूका है.कई प्रखंडों में चुनाव हेतु नामांकन प्रक्रिया आरम्भ है. इस बार के चुनाव को आरक्षण के नए रोस्टर ने रोमांचक बना दिया है. पूर्व से चयनित पुरुष जनप्रतिनिधि या पहली बार चुनाव लड़ने का इरादा रखने वाले कई उम्मीदवारों के उम्मीदोंREAD MORE CLICK HERE

बजट सत्र में संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर बोलते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री पर तंज कसते हुए फेयर एण्ड लवली के जुमले का प्रयोग किया. संदर्भ काला धन का मुद्दा है. दरअसल 2014 के आम चुनाव के दौरान नरेन्द्र मोदी ने यह कहाREAD MORE CLICK HERE

बिहार में राजद-जदयू गठबंधन की सरकार है.कुल मिलाकर लालू राज बिहार में फिर से कायम है. लालू यादव ने बिहार विधान सभा चुनाव के पहले अपनी लडखड़ाती राजनीतिक पारी को अपने अनुभव और बुद्धिमता से जिस प्रकार संभाला है वो उनकी राजनीतिक परिपक्वता का परिचायक है. लालू प्रसाद यादव नेREAD MORE CLICK HERE

(कबीर अहमद) स्वामी विवेकानंद ने कहा था की बेरोजगारी किसी भी राष्ट्र के लिए बहुत बड़ा अभिशाप है. आज हमारे देश में भी बेरोजगारी एक बहुत विकट समस्या बन चुकी है. देश की आजादी के बाद कई सरकारें आई और गईँ, लेकिन बेरोजगारी की समस्या यथावत बनी हुई है. हालाँकिREAD MORE CLICK HERE

अक्सर यह देखने को मिलता है कि लोग नए मोबाइल को खरीदते ही उसे सेफ करने की कोशिशे शुरू कर देते है. मोबाइल में सेफ गार्ड, स्क्रीन गार्ड आदि. ऐसा इसलिए ताकि मोबाइल के गिरने पर वह टूटे नहीं, उसकी स्क्रीन फूटे नहीं. आपने कभी यह भी सोचा है किREAD MORE CLICK HERE

  सम्मानित एवं सहृदय पाठकों, नमस्कार!   आप सभी तक आपके शहर, गाँव की ख़बरों को पहुँचाने की अपने संकल्पना को नयी उड़ान देते हुए हमने अपने नए वेबसाइट को लांच किया है. छपरा टुडे वर्ष 2013 से आप सभी तक आपके शहर की ख़बरों को पहुंचा रहा है. हमनेREAD MORE CLICK HERE