वाल्मीकिनगर से गंडक नदी में 2 लाख 26 हजार क्यूसेक पानी का डिस्चार्ज

वाल्मीकिनगर से गंडक नदी में 2 लाख 26 हजार क्यूसेक पानी का डिस्चार्ज

वाल्मीकिनगर से गंडक नदी में 2 लाख 26 हजार क्यूसेक पानी का डिस्चार्ज

Bihar: बिहार और पड़ोसी राष्ट्र नेपाल के तराई क्षेत्रों में लगातार भारी बारिश के बाद गंडक नदी के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. वाल्मीकिनगर गंडक बराज से बुधवार दोपहर गंडक नदी में 2 लाख 26 हजार क्यूसेक से अधिक पानी का डिस्चार्ज किया गया.

इसके साथ ही गंडक नदी के आसपास निचले इलाकों में बाढ़ की संभावना प्रबल हो गई है. पश्चिमी चंपारण और गोपालगंज जिले में बाढ़ की संभावना को देखते हुए सहित में जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को अलर्ट मोड में रखा गया है. नेपाल के तराई इलाकों के साथ-साथ बिहार के कई इलाकों में लगातार हो रही है. बारिश के कारण नदी के जलस्तर में बेतहाशा वृद्धि देखने को मिल रहा है. बतादें कि मंगलवार को गंडक नदी का जलस्तर 1 लाख क्यूसेक से ऊपर था जो कि बुधवार की दोपहर 2 लाख 26 हजार क्यूसेक को पार गया.

जलस्तर में लगातार हो रही बढ़ोतरी का खामियाजा पश्चिमी चंपारण और गोपालगंज के तराई इलाके में बसे लोगों को बाढ़ के रूप में झेलना पड़ सकता है.

उधर पानापुर के गंडक नदी का जलस्तर बढ़ रहा है. जिससे लोग सुरक्षित स्थान के जुगाड़ में है. हालांकि प्रशासन इस वर्ष बाढ़ से निपटने की तैयारी में जुटा है. उनके द्वारा दावे भी किए जा रहे है कि इस वर्ष बाढ़ के पूर्व सभी तैयारियां की जा चुकी है बाकी की तैयारी भी जारी है.

0Shares
[sharethis-inline-buttons]

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें