स्वास्थ्य मंत्री ने सीटी स्कैन का किया शुभारंभ, कहा- आपातकालीन सेवाओं को बेहतर बनाने में मिलेगी मदद

• छपरा सदर अस्पताल में सीटी स्कैन सेवा का स्वास्थ्य मंत्री ने किया उद्घाटन

• अब सीटी स्कैन के लिए नहीं जाना होगा दूसरे शहर
• मरीजों को आधे से कम कीमत पर उपलब्ध होगी सीटी स्कैन की सुविधा
• पीपीपी मोड में शुरू हुई यह सुविधा

•24 तरह के सिटी स्कैन की सुविधा उपलब्ध

Chhapra: सरकारी अस्पतालों को आधुनिकीकरण के लिए सरकार कृत संकल्पित है। हमारा प्रयास है कि अस्पतालों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जाए। सीटी स्कैन की मदद से सदर अस्पताल की आपातकालीन सेवाओं को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी। साथ ही दुर्घटना पीड़ित मरीजों के वास्तविक जख्म का पता लगाने के लिये उन्हें बाहर के किसी संस्थान ले जाने की मुश्किलों से निजात मिल सकेगी। उक्त बातें सूबे के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने सदर अस्पताल में सीटी स्कैन सेवा का उद्घाटन करते हुए कही। स्थानीय विधायक डॉ सीएन गुप्ता व जिलाधिकारी डॉ नीलेश रामचन्द्र देवरे की गरिमामयी उपस्थित में उद्घाटन कार्यक्रम संपन्न हुआ। इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि सीटी स्कैन सेंटर का संचालन शुरू होने से खासकर सड़क दुर्घटना के गंभीर मरीज को सीटी स्कैन के लिये पटना रेफर करने की भी जरूरत नहीं होगी। बिहार सरकार की आउटसोर्सिंग सुविधा के तहत मरीजों को यह सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटना सहित अन्य मामलों में गंभीर आंतरिक चोट, ब्लड क्लोटिंग व सर में चोट का पता सीटी स्कैन के माध्यम से आसान होगा। इससे मरीजों का इलाज करने में चिकित्सकों को आसानी होगी। कुल 24 तरह के स्कैन की सुविधा उपलब्ध है। इसके लिये न्यूनतम शुल्क 738 रुपये निर्धारित किया गया है। जटिल मामलों में सीटी स्कैन के लिये अधिकतम शुल्क 4920 तक रुपये निर्धारित है। 42% प्रतिशत से लेकर 70 प्रतिशत तक बाजार से कम दामो पर सिटी स्कैन की सुविधा मिलेगी। सीटी स्कैन मशीन बहुराष्ट्रीय कंपनी फिलिप्स की है। इस आधुनिकतम 16 स्लाइस सीटी स्कैन मशीन के माध्यम से शरीर के किसी भी अंग का सीटी स्कैन कराया जा सकता है।

सरकारी के साथ-साथ निजी संस्थान के मरीजों को मिलेगी सुविधा

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि सदर अस्पताल के मरीजों के साथ अन्य निजी चिकित्सा संस्थानों में इलाजरत मरीजों के लिये भी ये सुविधा सामान रूप से उपलब्ध होगी गा। इससे पहले सदर अस्पताल में सीटी स्कैन की सुविधा नहीं रहने से गंभीर रूप से दुर्घटनाग्रस्त मरीजों को तत्काल इलाज के लिये बाहरी जिलों में अवस्थित चिकित्सा केंद्र रेफर कर दिया जाता था। अस्पताल में ये सुविधा बहाल होने के बाद उन्हें परेशानियों से निजात मिलेगी गा।

सीटी सिटी स्कैन के लिए दर निर्धारित

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार ने दर निर्धारित किया है। बाजार से काफी कम दर पर सदर अस्पताल के मरीजों को सीटी सिटी स्कैन की सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी। अब मरीजों को इसके लिये बाहर नहीं भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि सीटी सिटी स्कैन से संबंधित सभी प्रकार की जांच के लिये अलग-अलग दर निर्धारित है। इसकी सूची भी वहां चस्पा करने का निर्देश एजेंसी को दिया गया है। ताकि लोगों को कोई परेशानी नहीं हो सके।

सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे मिलेगी सेवा

सदर अस्पताल में सीटी स्कैन सेंटर में मरीजों को सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे यह सुविधा उपलब्ध होगी। सोमवार से लेकर शनिवार तक प्रात: 9 बजे से लेकर सायं 5 बजे तक सेंटर कार्यरत रहेगा। वहीं रविवार व शाम की छुट्टी के बाद भी मरीजों को यह सुविधा ऑन कॉल मिल पाएगी। जबकि किसी मरीज को अपना सीटी स्कैन करवाकर रिपोर्ट लेने में मात्र एक से डेढ़ घंटे का समय लगेगा। इस मौके पर जिलाधिकारी डॉ नीलेश रामचन्द्र देवरे, क्षेत्रीय अपर निदेशक डॉ रत्ना शरण, सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा, डीआईओ डॉ अजय कुमार शर्मा, डीएमओ डॉ दिलीप कुमार सिंह, डीपीएम अरविन्द कुमार, स्वास्थ्य प्रबंधक राजेश्वर प्रसाद, यूनीसेफ एसएमसी आरती त्रिपाठी समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।

0Shares
A valid URL was not provided.