मुख्यमंत्री एवं केंद्रीय ऊर्जा मंत्री करेंगे एनटीपीसी बरौनी के दो यूनिट का लोकार्पण

मुख्यमंत्री एवं केंद्रीय ऊर्जा मंत्री करेंगे एनटीपीसी बरौनी के दो यूनिट का लोकार्पण

एनटीपीसी ने तैयार किया है 250-250 मेगावाट का दो यूनिट
बेगूसराय: नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) का हिस्सा बनने के बाद बरौनी थर्मल पावर स्टेशन नित नई ऊंचाई को प्राप्त करते हुए बिहार को बिजली के मामले में आत्मनिर्भर बना रहा है। इसी कड़ी एनटीपीसी बरौनी में तैयार कर व्यवसायिक उत्पादन शुरू किए गए 250-250 मेगावाट क्षमता वाले आठवें और नौवें यूनिट का लोकार्पण 27 नवंबर को करेगा। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तथा केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह दोनों यूनिट का लोकार्पण करेंगे। मौके पर बिहार सरकार के ऊर्जा मंत्री तथा एनटीपीसी के प्रबंध निदेशक समेत कई अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित रहेंगे। बेगूसराय के सांसद और केंद्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह के भी लोकार्पण समारोह में उपस्थित रहने की संभावना है। कार्यक्रम को लेकर थर्मल एक्सटेंशन प्रोजेक्ट एवं उपनगरी में जोरदार तैयारी की जा रही है। दो हेलीपैड बनाए जाने के साथ साफ-सफाई एवं रंग-रोगन सहित अन्य तैयारी युद्ध स्तर पर चल रही है। एक हेलीपैड पर मुख्यमंत्री और ऊर्जा मंत्री साथ आएंगे, दूसरे हेलीपैड पर एनटीपीसी के अधिकारी आएंगे।

मंगलवार को डीएम अरविंद कुमार वर्मा एवं एसपी अवकाश कुमार ने सीआईएसफ तथा एनटीपीसी के अधिकारियों के साथ हेलीपैड से लेकर कार्यक्रम स्थल तक का निरीक्षण किया एवं कार्यक्रम के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की। एनटीपीसी अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री एवं ऊर्जा मंत्री समेत सभी जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी 11 बजे थर्मल पहुंचेंगे। यहां आईबी में अधिकारियों के साथ बैठक के बाद बनाए गए एक्सटेंशन प्लांट में यूनिट नंबर आठ एवं नौ का लोकार्पण करेंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री एवं ऊर्जा मंत्री सहित एनटीपीसी के सभी अधिकारी बाढ़ एनटीपीसी के लिए रवाना हो जाएंगे। बाढ़ एनटीपीसी में निरीक्षण और बैठक के बाद दोपहर का भोजन कर पटना के लिए रवाना होंगे।

उल्लेखनीय है कि 1960 के दशक में बिहार सरकार का एकलौता थर्मल प्लांट बरौनी 45 मेगावाट क्षमता वाले तीन यूनिट के साथ शुरू हुआ था। बाद में क्रमशः यहां कुल सात यूनिट बनाए गए, लेकिन 2010 आते-आते थर्मल बदहाल हो गया। विभिन्न कारणों से उत्पादन ठप होने के बाद नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले केंद्र सरकार के प्रयास से बिहार सरकार ने अपना बरौनी थर्मल पावर प्लांट 15 दिसंबर 2018 को एनटीपीसी को सौंप दिया। अधिग्रहण के बाद व्यवस्था सुधार एवं नए प्रोजेक्ट के निर्माण का कार्य युद्ध स्तर पर चला तथा एक मार्च 2020 को एनटीपीसी के स्टेज दो के 250 मेगावाट क्षमता वाली आठवीं इकाई तथा एक नवंबर 2021 से 250 मेगावाट क्षमता वाली नौवीं इकाई से कॉमर्शियल विद्युत उत्पादन शुरू हो सका है। इसके अलावा पुराने प्लांट के सातवीं यूनिट का जीर्णोद्धार कर मांग के अनुरूप 110 मेगावाट कॉमर्शियल विद्युत उत्पादन किया जा रहा है। जबकि भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) द्वारा 110 मेगावाट क्षमता वाले छठे यूनिट का जीर्णोद्धार किया जा रहा है। संभावना जताई जा रही है कि दिसंबर 2021 से छठे यूनिट से भी विद्युत उत्पादन शुरू हो जाएगा।

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें