गर्मी के साथ चमकी बुखार की दस्तक, एक की मौत

गर्मी के साथ चमकी बुखार की दस्तक, एक की मौत

मुजफ्फरपुर: एक तरफ जहां पूरे विश्व के साथ भारत मे कोरोना का कहर जारी है वैसे में गर्मी की धमक के साथ ही AES (एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम) ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है.

AES से पीड़ित SKMCH के PICU वार्ड संख्या दो में भर्ती सकरा प्रखंड के बाजी बुजुर्ग निवासी मुन्ना राम के पुत्र आदित्य कुमार की रविवार की शाम पांच बजे मौत हो गई. स्थिति गंभीर होने पर उसे शुक्रवार की देर रात से वेंटिलेटर पर रखा गया था. वहीं भर्ती पूर्वी चंपारण जिले के चिरैया निवासी रूपन सहनी की पुत्री सपना कुमारी की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है. एईएस बीमारी से इस वर्ष यह पहली मौत है.

शिशु विभागाध्यक्ष डॉ. गोपाल शंकर साहनी ने बताया कि दो बच्चों को भर्ती किया गया था. इसमें एक बच्चे की मौत हो गई, जबकि दूसरे की स्थिति में सुधार हो रहा है.अस्पताल अधीक्षक डॉ. सुनील कुमार शाही ने बताया कि एईएस को लेकर सभी को अलर्ट कर दिया गया है. अस्पताल में बच्चों की इलाज की बेहतर व्यवस्था की गई है.

मालूम हो कि AES से विगत वर्ष 2019 में 431 बच्चे बीमार होकर भर्ती हुए थे. 111 बच्चे मौत के मुंह में चले गए थे. वहीं, 320 बच्चे ठीक होकर अस्पताल से लौटे थे. AES से पीड़ित आदित्य की मां सोनामती देवी ने बताया कि गुरुवार को बच्चे को सर्दी हुई थी. गांव के ही एक चिकित्सक से दवा लेकर रात में दिया गया. शुक्रवार की सुबह पांच बजे वह अचानक कांपने लगा. फिर उसे चमकी आने लगी. इसके बाद उसे गांव के ही चिकित्सक के पास ले गया, जहां उसे दो इंजेक्शन दिया गया, लेकिन कोई लाभ नहीं हुआ.उसे सकरा पीएचसी ले गए.जहां से कुछ दवा देकर SKMCH भेज दिया गया.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें